कंप्यूटर बाबा को फर्जी बताया...

शिक्षित समाज में ऐसे बाबाओं की कोई जगह नहीं : लक्ष्मण सिंह


गुना l पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के छोटे भाई और चांचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह ने मप्र नदी न्यास के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा को फर्जी बताया है। बुधवार को उन्होंने कहा, "शिक्षित समाज में फर्जी बाबाओं की कोई जगह नहीं है। जो तपस्या करते हैं, सही मायने में वे संत हैं, उनको दुनिया मानती है। मैं भी मानता हूं। लेकिन कम्प्यूटर बाबा जैसे फर्जी बाबाओं को शिक्षित समाज कभी स्वीकार नहीं करेगा।"

उन्होंने आगे कहा- कांग्रेस अगर ऐसे फर्जी बाबाओं को साथ रखेगी तो भविष्य में नुकसान होने की पूरी संभावना है। पहले भी ऐसे फर्जी बाबाओं से कांग्रेस को काफी नुकसान हो चुका है। लक्ष्मण सिंह ने कंप्यूटर बाबा के उस बयान पर पलटवार किया है, जिसमें उन्होंने 17 फरवरी को कहा था कि लक्ष्मण सिंह जिस मामले में कुछ नहीं जानते हैं, उस पर भी बोलते हैं। वहीं, लक्ष्मण सिंह के बयान पर कम्प्यूटर बाबा ने कहा- जो उन्हें अच्छा लगता है वो बोलें, मुझे जो सही लगता है वो मैं कहूंगा। कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि अच्छा काम करने वालों के सामने परेशानियां आती ही हैं।

विधायक लक्ष्मण सिंह ने आगे कहा, 'मैं पांच बार लोकसभा में चुना गया हूं, तीसरी बार विधानसभा में चुना गया। अगर मैं अनर्गल बातें करता तो इतनी बार नहीं चुना जाता। कंप्यूटर बाबा यह कह रहे हैं कि मैं अनर्गल बात कर रहा हूं, तो यह अपमान मेरा नहीं है, मतदाताओं का अपमान है, जिन्होंने मुझे पांच बार लोकसभा और तीसरी बार विधानसभा में चुना है।

बाबा से मेरा कहना है कि वह जनता का अपमान न करें। कांग्रेस की आड़ में कंप्यूटर बाबा अपना खेल खेलना बंद करें तो ज्यादा अच्छा होगा। लक्ष्मण सिंह ने कांग्रेस पार्टी को फर्जी बाबा से दूरियां बनाने की नसीहत देते हुए कहा कि ऐसे बाबा केवल नुकसान ही कर सकते हैं, इनसे कोई लाभ नहीं होगा।

लक्ष्मण सिंह ने कहा की उनकी आस्था सच्चे साधू-संतों पर हमेशा रही है, लेकिन फर्जी बाबाओं के खिलाफ वो हमेशा खड़े होंगे। एक दिन पहले गुना पहुंचे कंप्यूटर बाबा ने विधायक लक्ष्मण सिंह पर कटाक्ष करते हुए उन्हें अनर्गल बयानबाजी करने वाला बताया था।