कोहरे की वजह से
 पायलट ने खेत में उतारा विमान तो हुआ क्रैश



सागर l जिला मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर स्थित ढाना हवाई पट्टी के समीप कोहरे के चलते एक चाइम्स एविएशन के एक ट्रेनी विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के कारण एक ट्रेनर और ट्रेनी पायलट की मौत हो जाने के बाद उनके परिजन शनिवार को सागर पहुंचेंगे, जिन्हें पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव सौंपे जाएंगे। 

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्लेन क्रैश और दो प्रशिक्षु पायलटों की मौत पर शोक संवेदना व्यक्त की है। पुलिस के मुताबिक, शुक्रवार को रात हुए विमान दुर्घटना में ट्रेनर अशोक मकवाना और ट्रेनी पायलट पीयूष चंदेल की मौत हो गयी थी, जो मुंबई के रहने वाले हैं।

उनके परिजनों को इस घटना की जानकारी रात को ही दे दी गई। इसके बाद परिजन भोपाल से सागर पहुंच रहे हैं। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल में रखा गया है। परिजन के यहां पहुंचने पर दोनों के शवों को सौंपा जाएगा।

वहीं, दुर्घटना के बाद विमान का मलबा अभी भी घटनास्थल पर पड़ा है। दिल्ली से नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) की एक टीम सागर पहुंच गई है। इसके बाद ही दुर्घटनाग्रस्त विमान का मलबा उठाया जाएगा। वहीं डीजीसीए की टीम इस पूरे घटनाक्रम की जांच भी करेगी।

कोहरे के कारण नहीं दिखी थी हवाई पट्टी 
ढाना में चाइम्स एविएशन अकादमी से प्रशिक्षु विमान सेसना ने गुरुवार रात नाइट फ्लाइंग के लिए उड़ान भरी थी। कुछ समय बाद ही कोहरा बढ़ गया और लैंडिंग के लिए पायलट को हवाई पट्टी नजर नही आई। ट्रेनी पायलट पीयूष चंदेल (30) और ट्रेनर अशोक मकवाना (58) ने हड़बड़ी मे ढाना पुलिस चौकी से 200 मीटर दूर विमान को हिलगन रोड पर खेत में उतारा, जिससे वह क्रैश हो गया।

दुर्घटना में विमान सवार दोनो पायलट गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की जानकारी लगने के तुरंत बाद अकादमी के अधिकारी घटना स्थल पहुंच गए। दोनों गंभीर घायलों को विमान से निकालकर निजी वाहन से मकरोनिया स्थित निजी अस्पताल ले जाया गया था। वहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

सीएम कमलनाथ ने जताया दुख 
देश के सागर की ढाना हवाई पट्टी पर एक विमान हादसे में दो प्रशिक्षु पायलेट की मौत का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।