दिल्ली बॉर्डर्स पर पड़ाव के दिन 

26 नवम्बर राज भवन पहुचेंगे किसान !


ग्वालियर। 26 नवम्बर को प्रदेश भर के किसान राजभवन के घेराव करने भोपाल पहुचेंगे। 26 नवम्बर 2020 को तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर किसानों ने दिल्ली कूच किया और दिल्ली के बॉर्डर्स पर पड़ाव डाल दिया था।

इस ऐतिहासिक दिन के अवसर पर संयुक्त किसान मोर्चा ने देश के सभी प्रदेशो की राजधानियों में राजभवनों का घेराव, ज्ञापन देने तथा इसी दिन संसद पर प्रदर्शन का भी निर्णय लिया है, किसान मोर्चा का कहना है कि अभी भी एमएसपी की गारंटी, बिजली कानून, खाद बीज का संकट, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के आधार पर एमएसपी का निर्धारण करने संबधी मांगें सरकार स्वीकार नही कर रही है, इस लिए 26 नवम्बर को राजभवन को घेराव करने का आव्हान किया गया है।

इस आंदोलन के सम्बंध में ग्वालियर संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक नवीन विश्राम गृह, गांधी रोड पर सम्पन्न हुई, जिसमे तमाम किसान संगठनों ने भाग लिया, सभी ने एकजुट होकर 25 नवम्बर को एकजुट होकर रेलगाड़ियों के माध्यम से भोपाल चलने की योजना तैयार की है, संयुक्त मोर्चा ग्वालियर के नेताओ ने किसानों भाइयो से भोपाल कूच करने की अपील की है। 

अपील करने वालो में मध्यप्रदेश किसान सभा के तलविंदर सिंह, अखिल भारतीय किसान सभा के अशोक पाठक, भारतीय किसान यूनियन के तमन्ना खान, किसान नेता भगवान सिंह , पार्षद पीपी शर्मा ए आई केके एम एस के राय सिंह, विश्वजीत रतोनिया, सहित मध्यप्रदेश किसान सभा के प्रदेश महासचिव तलविंदर सिंह, एवम मजदूर नेता रामविलास गोस्वामी मुख्य रूप से उपस्थित थे।