बेरोजगार का दंश भुगत रहे…

राजस्थान के युवाओं ने गुजरात में निकाली दांडी यात्रा

गुजरात के पालनपुर से अहमदाबाद के कांग्रेस पार्टी कार्यालय तक राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ की तरफ से डांडी यात्रा निकाली जा रही है। इसका नेतृत्व महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष उपेन यादव कर रहे हैं। 2018 चुनाव के बाद से कुछ समय पहले तक कांग्रेस पार्टी का समर्थन करने वाला यह महासंघ अचानक विरोध करने लगा। ऐसें में यह सवाल उठता है कि राजस्थान के युवा गुजरात में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं। इस मामले को लेकर महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष उपन्द्र यादव ने बताया कि राजस्थान के सैकड़ों युवा बेरोजगार का दंश भुगत रहे हैं। उनकी मांगों को लेकर यह डांडी यात्रा निकाली जा रही है। 150 किलोमीटर लंबी यह यात्रा 2 अक्टूबर को पालनपुर से शुरू हुई थी, जो 8 अक्टूबर को अहमदाबाद कंग्रेस कार्यालय पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि 8 अगस्त को अहमदाबाद कांग्रेस कार्यालय के बाहर सत्याग्रह किया जाएगा, युवा यहां अनशन पर बैठेंगे। 

राजस्थान में विरोध प्रदर्शन रोक जाने पर उपेंद्र यादव ने आगे कहा कि राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत की सरकार युवाओं का मुंह बंद करना चाहती है ताकि आवाज नहीं उठे और उनकी कमियां बाहर नहीं आए। उन्होंने कहा कि राजस्थान में 23 मई, 13 जून, 14 जून, 16 जून, 12 अगस्त, और 13 सितंबर सहित कई बार धरने दिए, लेकिन जब भी आवाज उठाई तो पुलिस का सामना झेलना पड़ा। उन्होंने कहा युवाओं पर लाठी चार्ज हुए, उन पर मुकदमे तक दर्ज हुए। उन्होंने कहा राजस्थान सरकार हमें अपनी आवाज उठाने तक नहीं दे रही है। डांडी यात्रा के लिए गुजरात को चुने जाने पर उन्होंने कहा कि राजस्थान में सरकार युवाओं की आवाज को दबा रही है। गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। 

ऐसे में यहां के युवाओं को बताएंगे कि राजस्थान में  कांग्रेस सरकार ने युवाओं की क्या दशा की है। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर कांग्रेस के खिलाफ माहौल बनाना है, ताकि यहां के युवाओं की दशा ना बिगड़े। बता दें कि उपेंद्र यादव ने पहले कांग्रेस को समर्थन दिया था और अब वो इसका विरोध कर रहे हैं। इस सवाल पर उन्होंने कहा कि राजस्थान में वर्ष 2018 में विधानसभा चुनाव के समय महासंघ ने कांग्रेस को समर्थन दिया था। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई थी जिसमें कांग्रेस के पवन खेड़ा सहित अन्य पदाधिकारी थे। राहुल गांधी से भी मुलाकत हुई थी। उन्होंने कहा कि समर्थन में युवा बेरोजगारों से जुड़ी मांगे पुरी करने की शर्तें थी लेकिन कांग्रेस ने विश्वासघात किया। कोई मांगे नहीं मानी गई इसी कारण विरोध में उतरना पड़ा। 

महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष ने आगे कहा कि बड़ी बात तो यह है कि सीएम गहलोत ने आरोप लगाया कि बीजेपी के द्वारा डांडी यात्रा करवाया जा रहा है। उनकी यह बात सुनकर दुख होता है। हमने युवाओं के साथ अपनी मांगों को लेकर बीजेपी सरकार में भी विरोध प्रदर्शन किए हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के भारत जोड़ो यात्रा पर उन्होंने कहा कि राजस्थान में युवाओं के सपने टूट रहे हैं और यह यात्रा निकाल रहे हैं। डांडी यात्रा के बाद हम राहुल गांधी की निकाली जा रही यात्रा का विरोध करेंगे। वह जहां भी होंगे वहां जाएंगे और उन्हें काले झंडे दिखाएंगे। अपनी मांगों को लेकर उपेंद्र यादव ने कहा कि राजस्थान में बेरोजगारी से हजारों युवक प्रभावित हैं। डांडी यात्रा में अभी करीब 500 युवक जुड़े हुए हैं। 8 अगस्त को अहमदाबाद कांग्रेस कार्यालय के सामने प्रदर्शन होगा, तब 1100 से ज्यादा युवक गुजरात आएंगे और सत्याग्रह करेंगे।