बर्बर रेप कांड को लेकर चुप्पी... 

दलित बहनो को रेप करके उन्हे क्रूरता से मारकर लटका दिया 

उप्र l लखीमपुर खीरी में दो दलित बहनों से रेप और मर्डर के आरोपी धर्म विशेष से ताल्लुक रखते हैं । और लोगों का मानना है की ये ये बीएसपी, एसपी, कांग्रेस समेत सभी सेकुललर पार्टियों का वोटर हैं l  यही वजह है कि इन सभी पार्टियों ने इनके  के द्वारा किए गए बर्बर रेप कांड को लेकर चुप्पी साधना ही बेहतर समझा है l बर्बर लखीमपुर कांड के आरोपियों के नाम सामने आते ही ये मामला और कुछ लोगों का ग़ुस्सा अचानक ठंडा पड़ गया l लखीमपुर वाला रेप पर्यटन भी टाल दिया गया है l वोट की फसल काटने वालीं ये पार्टियां चुप हैं l सारे नेता गूंगे बन गये हैं l 

इनकी चुप्पी को देखकर तो ऐसा लगता है कि इन सेकुलर पार्टियों को बर्बर रेप कांड से कोई गिला शिकवा नहीं है l  दो दलित बहनों से जुनैद, सुहैल, हफीजुर्हमान, कलीमुद्दीन, आरिफ ने किया गैंगरेप और फिर डबल मर्डर,भीम-मीम के चक्कर में हो गया लखीमपुर कांड l और इस कांड को लेकर अभी तक यावती  ,अखिलेश ,राहुल ,चंद्रशेखर रावण ,जिग्नेश मेवाणी ,कन्हैया कुमार ,बरखा दत्त  ,अजित अंजुम ,रवीश कुमार ,ओवैसी  , प्रियंका गांधी ,आरफा खानम शेरवानी ,सबा नकवी सहित सभी चुप हैं l क्या ये सभी इस लिए चुप है की ये दोनों बहनें गरीब परिवार से थीं l इनके मर्डर और रेपकांड का विरोध करने से इनका वोट बैंक खिसक जायेगा l शिकायत उन तथाकथित समाजिक संगठनों से भी है जो दिल्ली जैसे बड़े शहरों में  इस प्रकार की घटनाओ पर बबाल काटते है और लखीमपुर जैसे  छोटे से कस्बे में हुई इस बर्बर घटना पर मौन हैं l और मौन का कारण भी शायद यहाँ मैं स्ट्रीम मिडिया का ना होना है क्योंकि उसकी अनुपस्थिति में इन्हे ज्यादा पब्लिसिटी नहीं मिलेगी l लखीमपुर खीरी में जब दो लड़कियों की लाश पेड़ पर लटकी मिली थी तो इनमें से ज्यादादतर ने ट्वीट कर दिए थे और ये कहा था कि लखीमपुरखीरी में हाथरस जैसा कांड हो गया है और बीजेपी के राज में दलितों का शोषण हो रहा है ।

घटना  को लेकर सबा नककवी नामकी एक जिहादन आंटी ने ट्विटर पर एनडीटीवी की खबर को रीट्वीट करते हुए लिखा कि दुख की बात है कि एनडीटीवी ने भी दलित बहनों का रेप करने वालों की जाति नहीं लिखी है। लेकिन जैसे ही ये पता चला कि आरोपी मुसलमान हैं सबा ने फौरन अपना ट्वीट डिलीट कर दिया । घटना  को लेकर  लगभग सभी पार्टियों के बड़े लीडर्स ने लखीमपुर खीरी में कार्यक्रम और दौरे तय कर लिए थे लेकिन जैसे ही ये खुलासा हुआ कि रेप और मर्डर के सभी आरोपी मुसलमान हैं फिर तो सभी पार्टियों के लीडर्स ने अपने कार्यक्रम रद्द  कर दिए क्योंकि वो वोट बैंक को नाराज नहीं करना चाहते । चंद्रशेखर रावण की भीम आर्मी के समर्थकों ने भी बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन का कार्यक्रम तय कर लिया था लेकिन जैसे ही ये खुलासा हुआ कि रेपिस्ट तो जुनैद, सुहैल और हफीजुर्हमान हैं विरोध का कार्यक्रम तुरंत रद्द कर दिया गया । रावण अपनी पार्टी खड़ी करना चाहता है इसलिए उसने मुस्लिम रेपिस्टों के खिलाफ कोई बयान देना उचित नहीं समझा है । 

लखीमपुरखीरी के एसपी संजीव के मुताबिक इस मामले में एक दलित छोटे गौतम को भी गिरफ्तार किया गया है क्योंकि ये ही वो शख्स है जिसने जुनैद, सुहैल और हफीजुर्हमान की दोस्ती इन दोनों दलित बहनों से करवाई थी । शायद छोटे गौतम भीम-मीम वाली विचारधारा से प्रेरित था लेकिन उसको ये नहीं पता था कि मीम वालों के लिए भीम वाले सदैव काफिर ही हैं। एसपी के मुताबिक जुनैद, सुहैल और हफीजुर्रहमान की दोस्ती दोनों दलित बहनों से थी । ये तीनों लड़के दो बाइक से दलित बहनों के घर आए । जुनैद ने दोनों बहनों को अपनी बाइक पर बिठाया और गन्ने की खेत की तरफ ले गया। दूसरी बाइक पर साहिल और हफीजुर्रहमान थे । जुनैद और साहिल तो पहले से ही दोनों दलित बहनों के दोस्त थे। लेकिन हफीजुर्रहमान ने भी दोनों बहनों का रेप किया। इस बात से आहत होकर दोनों दलित बहनों ने जुनैद और साहिल से कहा कि वो शादी करें। लेकिन इससे जुनैद और साहिल ने इनकार कर दिया । 

सूत्रों से मिले इनपुट से तो ऐसी आशंका भी  है कि जुनैद और साहिल भीम-मीम की बिरियानी का स्वाद चखाने के लिए हफीजुर्रहमान को भी साथ ले गया था। जुनैत और साहिल इन दोनों दलित बहनों का इस्तेमाल सेक्स स्लेव की तरह या फिर पैसा कमाने वाले की मशीन की तरह कर रहे हों और पहले भी अपने दूसरे जिहादी दोस्तों को रेप की दावत दे चुके हों।  इन्हीं घटनाओं से तंग होकर ही दोनों बहनों ने जुनैद और साहिल से शादी के लिए कहा होगा। जो जुनैद और साहिल उनके देह का सौदा कर रहे थे उससे ही ये शादी करने करने का दबाब इन पर बना रही थीं। शादी के प्रस्ताव को ठुकराकर जुनैद और साहिल ने अपने दो और दोस्तों को फोन कर रेप वाली जगह पर बुला लिया। इन दोनों दोस्तों का नाम था कलीमुद्दीन और आरिफ । फिर इन पांचों दरिंदों ने मिलकर लड़कियों की चु्न्नी से ही उनका गला घोंटा और फिर उनको एक पेड़ पर लटका दिया ताकी ये आत्महत्या का मामला लगे।