750 करोड़ की लागत से तैय्यार हो रहे महाकालेश्वर कॉरिडोर का …

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सोमवार को भगवान महाकालेश्वर कॉरिडोर का किया निरीक्षण 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को उज्जैन में भगवान महाकालेश्वर कॉरिडोर का निरीक्षण किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महाकालेश्वर कॉरिडोर का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। उज्जैन दर्शन के लिये देश के कोने-कोने से आने वाले श्रद्धालु यहाँ से उनके मन में भगवान महाकालेश्वर और मंदिर के कॉरिडोर की अमिट छाप लेकर जायें। मुख्यमंत्री ने महाकालेश्वर कॉरिडोर में निर्मित नवग्रह मूर्तियों, भगवान शिव से संबंधित कथाओं पर केन्द्रित चित्रों का अवलोकन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि संबंधित चित्रों के नीचे सरल भाषा में उसका विवरण अंकित करायें, जिससे आमजन को आसानी से संबंधित कथा की जानकारी मिल सके।


मुख्यमंत्री श्री चौहान को कलेक्टर आशीष सिंह ने महाकालेश्वर कॉरिडोर प्रोजेक्ट की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि महाकालेश्वर कॉरिडोर का जन-जन में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये, जिससे महाकालेश्वर कॉरिडोर के उद्घाटन के पूर्व सभी को यहाँ की विशेषता के बारे में जानकारी मिल सके। उज्जैन भ्रमण में उपयुक्त वातावरण निर्मित हो, जिससे भगवान महाकालेश्वर के दर्शन के बाद उज्जैन से प्रस्थान के दौरान भी लोगों को कॉरिडोर दिखाई दे। मुख्यमंत्री द्वारा कॉरिडोर में किये गये सौन्दर्यीकरण कार्य की प्रशंसा की गई। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव, सांसद अनिल फिरोजिया सहित विधायक, जन-प्रतिनिधि, नागरिक और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।


उज्जैन में महाकाल कॉरिडोर या महाकाल मंदिर विस्तार योजना के पहले चरण का काम लगभगल पूरा हो गया है. इसका लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों होना है. हालांकि उनके दौरे का आधिकारिक कार्यक्रम नहीं आया. इससे पहले ही जिला प्रशासन तैयारी में जुट गया है l महाकाल मंदिर विस्तार योजना के पहले चरण के कार्यों और पीएम मोदी के दौरे कार्यक्रम से पूर्व की तैयारियों को लेकर संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर व कलेक्टर आशीष सिंह ने मार्गदर्शन में शहर के कालीदास अकादमी परिसर में एक बैठक सम्पन्न हुई. बैठक के बाद मंत्री उषा ठाकुर और कलेक्टर आशीष सिंह ने मीडिया को जानकारी दी l 


15 दिन में फिनिशिंग

मंत्री उषा ठाकुर ने बताया  कि पीएम के नगरी में आने की संभावना अक्टूम्बर माह में शरद पूर्णिमा के अवसर पर बन रही है. हालांकि अभी आधिकारिक दौर कार्यक्रम नहीं आया है. वहीं कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा पीएम द्वारा महाकाल महाराज मंदिर परिसर के विस्तारीकरण कार्यो को लेकर लोकार्पण से पूर्व हमारी तैयारियां लगभग पूरी हैं. 15 दिन में जो फिनिशिंग के काम है पूरे कर दिए जाएंगे l 


लोकार्पण के बाद आम जन के लिए खुलेगा कॉरिडॉर

752 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हो रहे महाकाल मंदिर विस्तरिकरण प्लान के पहले चरण का काम लगभग पूरा हो चुका है. प्रधानमंत्री पहले चरण के करीब 300 करोड़ से हुए निर्माण कार्यों का लोकार्पण करेंगे. पीएम इस दौरे में विश्व की पहली विक्रमादित्य वैदिक घड़ी और वैदिक एप्प की लॉन्चिंग भी कर सकते है. पीएम मोदी द्वारा महाकाल महाराज मंदिर के पहले चरण के कार्यों के लोकार्पण के बाद सभी जगहें जो पहले चरण में पूरी हुई आम जन के लिए खोल दी जाएंगी l 

इन अन्य कार्यों का हुआ निर्माण

महाकाल थीम पार्क के अंतर्गत महाकालेश्वर की कथाओं से युक्त म्युरल वाल, सप्त सागर हेतु डेक एरिया तथा डेक के नीचे शापिंग क्षेत्र, बैठक क्षेत्र सुविधाएं विकसित की गई है. इसी तरह त्रिवेणी संग्रहालय के समीप कार, बस व दोपहिया वाहन की मल्टीलेवल पार्किंग बन चुकी है. इस क्षेत्र में धर्मशाला व अन्नक्षेत्र भी बनाये जा रहे हैं जो लगभग पूर्ण हो चुके हैं. कोबल्ड स्टोन की रोड क्रॉसिंग के जरिये पदयात्रियों की कनेक्टिविटी विकसित की गई हैं l 

पहले चरण हुए हैं ये काम

पहले चरण में महाकाल प्लाजा, महाकाल कॉरिडोर, मिडवे झोन, महाकाल थीम पार्क, घाट एवं डेक एरिया, नूतन स्कूल कॉम्पलेक्स, गणेश स्कूल कॉम्पलेक्स का कार्य पूर्ण हो चुका है. महाकाल कॉरिडोर के तहत प्रथम घटक में पैदल चलने हेतु उपयुक्त 200 मीटर लंबा मार्ग बना दिया गया है. इसमें 25 फीट ऊंची एवं 500 मीटर लम्बी म्युरल वाल बनाई गई है l

इसके अलावा 108 शिवस्तंभ शिव की विभिन्न मुद्राओं सहित निर्मित हो चुके हैं, जो अलग ही छटा बिखेर रहे हैं. लोटस पोंड, ओपन एयर थिएटर तथा लेकफ्रंट एरिया और ई-रिक्शा व आकस्मिक वाहनों हेतु मार्ग भी लगभग पूर्ण हो चुका है. बड़े रूद्र सागर की झील में स्वच्छ पानी भरा गया है और यह सुनिश्चित किया गया है कि इस झील