आरोपी गोपी उर्फ गुलाम मुस्तफा करता था  वाहन खरीद बिक्री कार्य ...

ज्वैलरी शोरूम में साढ़े 5 करोड़ की चोरी का हुआ खुलासा



जबलपुर। एडीजीपी उमेश जोगा, डीआईजी आरआरएस परिहार एवं एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने चोरी का खुलासा करते हुए बताया कि पूछताछ में पाया गया कि आरोपी गोपी उर्फ गुलाम मुस्तफा वाहन खरीद बिक्री का व्यापार करता था एवं इलेट्रानिक सामान बनाने का छोटा कारखाना चलाता था. कोरोना के कारण लॉकडाउन के बाद व्यापार में घाटा होने से उस पर कर्ज बढ़ गया. वारदात में प्रयुक्त इनोवा कार भी आरोपी ने लोन पर खरीदी थी, जिसका कर्ज वह चुका नहीं पा रहा था.

कर्ज में डूब गया था मुख्य आरोपी : कर्जदार लगातार उससे अपने पैसे मांग रहे थे. तभी आरोपी ने ज्वैलरी शॉप में चोरी करने की साजिश रची. उसने अपने साथी बैजू उर्फ बैजुद्दीन के साथ मिलकर रणनीति बनाई. गुलाम मुस्तफा बीते एक माह से पायलवाला गोल्ड शोरूम दुकान की रैकी कर रहा था. घटना के दिन गुलाम मुस्तफा ने अपनी इनोवा की नंबर प्लेट को कपड़े से ढंककर टेप से चिपका दिया. इनोवा में ताले काटने के लिए कटर लेकर दोनों गोलबाजार में दत्त मंदिर के पास गली में पहुंचे. कार खड़ी कर पैदल गलियों से होते हुए पायलवाला गोल्ड शोरूम के पीछे पहुंचकर तीनों ने दुकान के चैनल गेट सहित 10 ताले काटकर दुकान में प्रवेश किया.

चोरी के गहने आपस में बांटे : चोरों ने सबसे पहले सीसीटीवी का डीवीआर निकाल कर रख लिया. चोर दुकान के गोल्ड काउंटर में रखी ज्वैलरी बोरी में भरकर इनोवा से भाग गए. चोरों ने औजार, कपड़े एवं डीवीआर को बहते नाले मे फेंक दिया तथा इनोवा कार को भेड़ाघाट ले जाकर खड़ा कर अपने घर चले गए. थोड़ी देर बाद बाइक से कोसमघाट में उसी सुनसान स्थान पर जाकर चुराए हुए जेवरों की बोरी लेकर गोपी उर्फ गुलाम मुस्तफा के घर गए. वहां जेवरों का आपस में बंटवारा कर लिया गया.

15 अगस्त की रात को चोरी : इसके बाद आरोपी गुलाम मुस्तफा इनोवा कार को कबाड़ में कटवाने के लिए कबाड़ी को देकर नागपुर एवं अजमेर घूमने चला गया. लार्डगंज टीआई मुधर पटेरिया ने बताया कि सराफा मेन रोड कमानिया गेट निवासी सुनील कुमार जैन की सुपर मार्केट में ' पायलवाला गोल्ड शोरूम ' नाम से दुकान है. सुबह 11 बजे उसकी बड़ी बहन ममता जैन शोरूम खोलती थीं और रात लगभग 10 बजे शोरूम बंद कराती थीं. 15 अगस्त को रोजाना की तरह रात लगभग 10 बजे दुकान बंद कर सभी अपने घर चले गये थे. बड़ी बहन ममता जैन गोल्ड शोरूम के पीछे स्थित स्वर्णिम पब्लिक स्कूल की संचालिका हैं, जो सुबह 7:45 बजे स्कूल आई थी.

ज्वैलर्स के होश उड़े : ममता जैन ने शोरूम का साइड चैनल गेट एवं शटर खुली हुई देखी. तब उन्होंने बेटे स्वर्णिम जैन को मामले की जानकारी दी. चैनल गेट के ताले कटे पड़े थे. शटर खुली हुई थी एवं दुकान में सामान अस्त- व्यस्त पड़ा था. चोर ताले काटकर शोरूम में रखे सोने के जेवरात ले गए थे. शोरूम से करीब साढ़े 5 करोड़ रुपए कीमत के जेवर चोरी हुए थे. पुलिस ने धारा 457, 380 का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया था।