30 हजार की भीड़ जुटाने 300 बसों का किया जा रहा है प्रबंध …

15 को 222 किमी लंबी सड़क परियोजना का होगा शिलान्यास !


सांकेतिक तस्वीर 

ग्वालियर l 15 सितंबर को 1129 करोड़ की 222 किमी लंबी सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास-लोकार्पण केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया व नरेंद्र सिंह तोमर की विशिष्ट मौजूदगी में होगा। इस आयोजन को भव्य बनाने के लिए विशेष प्रबंध किए जा रहे हैं। 30 हजार की भीड़ जुटाई जाएगी, जिन्हें लेने-छोड़ने के लिए 300 बसों का प्रबंध किया जा रहा है। 

ग्वालियर में 406.35 करोड़ रुपये की लागत से स्वर्ण रेखा नाले पर ट्रिपल आइटीएम कालेज से महारानी लक्ष्मीबाई प्रतिमा तक साढ़े छह किलोमीटर लंबी एलिवेटेड फोर लेन सड़क का निर्माण होना है। केंद्रीय सड़क निधि से यह सड़क बनाई जाएगी। इसी तरह पिछोर रोड (डबरा)-कटारे बाबा की समाधि-सरनागत बडेरा (डबरा) के बीच पांच किलोमीटर की सड़क, चीनौर-करहिया एवं करहिया-भितरवार के बीच 33 किलोमीटर सड़क, मिहोना बायपास, लहार बायपास, दबोह बायपास एवं भांडेर बायपास पर टू लेन 21 किलोमीटर और कुरवाई-मुंगावली-चंदेरी खंड पर टू लेन 104 किलोमीटर लंबाई की सड़क परियोजना का शिलान्यास किया जाएगा। 

साथ ही मेघोनाबाड़ा (कोलारस शिवपुरी) से अमरोद (मुंगावली अशोकनगर) तक 51 किलोमीटर सड़क निर्माण कार्य का लोकार्पण होगा। रानी लक्ष्मीबाई की समाधि से ट्रिपल आइटीएम तक लगभग छह किलोमीटर लंबाई में बनने जा रहे एलिवेटेड रोड की कुल चौड़ाई करीब16 मीटर होगी। डिवाइडर के अलावा दोनों ओर की सड़कों की चौड़ाई 7.25 – 7.25 मीटर होगी। एलिवेटेड रोड पर चढ़ने उतरने के लिये छह किलोमीटर की लंबाई में 6 स्थानों पर रैंपनुमा 13 सड़कें बनाई जाएंगीं। 

एलिवेटेड रोड के प्रारंभ स्थल यानी रानी लक्ष्मीबाई समाधि के नजदीक और दूसरे छोर पर ट्रिपल आइटीएम के समीप एलिवेटेड रोड पर चढ़ने उतरने के लिये अलग अलग रैंप बनाए जाएंगे। हजीरा क्षेत्र में एलिवेटेड रोड पर चढ़ने उतरने के लिये दो स्थानों पर अलग-अलग रैंप बनेंगे अर्थात यहां पर कुल चार रैंप बनेंगे। इसके अलावा रानीपुरा व रमटापुरा में एलिवेटेड रोड पर चढ़ने उतरने के लिये अलग-अलग रैंप बनाए जाएंगे। साथ ही चंद्रनगर में एलिवेटेड रोड पर चढ़ने के लिए एक रैंप बनेगा।