राष्ट्रपति के देश छोड़ने के बाद सड़क पर भारी प्रदर्शन…

श्रीलंका में इमरजेंसी का एलान

राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के देश से भाग जाने के बाद श्रीलंका में आपातकाल की घोषणा की गई है। श्रीलंकाई राष्ट्रपति ने कुछ दिनों पहले एलान किया था कि वो 13 जुलाई को अपने पद से इस्तीफा दे देंगे। हालांकि उनके देश से भाग जाने के बाद अब उनके इस्तीफे को लेकर सवाल उठ रहे हैं। राष्ट्रपति, उनकी पत्नी और दो सुरक्षाकर्मी श्रीलंका वायुसेना के विमान में सवार होकर मालदीव की राजधानी माले निकल गए। 

दूसरी तरफ राष्ट्रपति के देश छोड़कर चले जाने की खबर के बाद से ही कोलंबो में प्रधानमंत्री के आवास के बाहर जनता का विरोध प्रदर्शन एक बार फिर तेज हो गया है। गुस्साए प्रदर्शनकारी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते नजर आ रहे हैं। भीड़ ने सड़कों पर हंगामा करना शुरू कर दिया है। विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पीएम आवास के बाहर बड़ी संख्या में सैन्य कर्मियों की तैनाती की गयी है। उग्र भीड़ को हटाने के लिए उनपर आंसू गैस के गोले छोड़े गये हैं।

बता दें कि श्रीलंका में मार्च के अंत में होने वाली बिजली कटौती अब तक का सबसे बुरा दौर था। इसी कारण कोलंबों में लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया था। इस देश में साल के सबसे गर्म महीनों में रोज़ाना 13 घंटों की बिजली कटौती की गई जिससे पूरे देश के लोगों में गुस्सा फूट पड़ा। जिससे हज़ारों लोग सड़कों पर उतर आए और राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन करने लगें।