नोटों की गिनती अभी भी जारी…

अर्पिता मुखर्जी के एक और ठिकाने से अब तक मिले 20 करोड़

पश्चिम बंगाल में स्कूल भर्ती घोटाले के मामले में केंद्रीय एजेंसी ईडी का एक्शन जारी है। बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के कोलकाता के बेलघरिया स्थित फ्लैट पर छापेमारी की। इस दौरान बड़ी मात्रा में कैश की बरामदगी की गई है। नोटों को गिनने के लिए पांच बैंक अधिकारियों को बुलाया गया है। साथ ही कैश गिनने की मशीनें भी मंगाई गई। 

सूत्रों ने रात के करीब साढ़े नौ बजे बताया कि 20 करोड़ से ज्यादा कैश मिले हैं। नोटों की गिनती अभी भी जारी है। सूत्रों ने बताया कि तीन किलो सोना, सिल्वर क्वाइन और प्रॉपर्टी के दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं। अर्पिता मुखर्जी फिलहाल ईडी की हिरासत में हैं। उन्हें पिछले दिनों लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया था। ईडी ने 22 जुलाई को मुखर्जी के ठिकाने से 21 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की थी। बाद में लंबी पूछताछ के बाद पार्थ चटर्जी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। 

इससे पहले अर्पिता मुखर्जी के पास से दो डायरी जब्त की गई थी। सूत्रों के मुताबिक, इनमें से एक डायरी में अर्पिता मुखर्जी अपने बैंक खाते में जो नगदी जमा करती थी उसकी जानकारी है। ईडी जानना चाहता है कि यह नगदी अर्पिता मुखर्जी के पास कहां से आती थी। इस डायरी में अनेक बार अलग-अलग बैंकों में नगदी जमा कराए जाने का विवरण है। यह नगदी लाखों में है।