चीनी नागरिकों को वीजा दिलाने का मामला…

कार्ति चिदंबरम के करीबी भास्कर रमन को सीबीआई ने किया गिरफ्तार

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम के करीबी को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि वीजा भ्रष्टाचार के मामले में ये बड़ी गिरफ्तारी हुई है। सीबीआई ने देर रात भास्कर रमन को गिरफ्तार किया, जो कार्ति चिदंबरम का करीबी है। इसी मामले में सीबीआई ने कार्ति चिदंबरम के घर और दफ्तर में भी छापेमारी की थी। जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने चिदंबरम के करीबी को देर रात चेन्नई से गिरफ्तार किया। इससे पहले लाखों रुपए लेकर वीजा बनवाने के मामले में सीबीआई ने कार्ति के ठिकानों पर छापेमारी की थी। 

इस मामले को लेकर सीबीआई कार्ति के करीबी भास्कर रमन से पूछताछ कर रही थी, जिसके बाद अब उनकी गिरफ्तारी हुई है। कार्ति चिदंबरम और उनके सहयोगियों पर चीन के नागरिकों को वीजा देने के एवज में लाखों रुपये की घूस लेने का आरोप है। दरअसल सीबीआई ने एक बिजली कंपनी के लिए 263 चीनी नागरिकों को वीजा देने में मदद करने के 11 साल पुराने एक आरोप की जांच को लेकर लोकसभा सदस्य कार्ति चिदंबरम के खिलाफ एक नया मामला दर्ज किया है। अधिकारियों ने बताय कि, कार्ति पर 2011 में 50 लाख रुपये की रिश्वत लेकर चीनी नागरिकों को वीजा दिलवाने का आरोप है। उस समय कार्ति के पिता पी चिदंबरम केंद्रीय गृह मंत्री थे। 

मामला दर्ज करने के बाद सीबीआई ने दिल्ली और चेन्नई में चिदंबरम के घर समेत देश के कई शहरों में 10 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की। सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि, 14 मई को एजेंसी ने कार्ति, उनके करीबी सहयोगी एस भास्कर रमन, तलवंडी साबो बिजली परियोजना के तत्कालीन सहायक उपाध्यक्ष विकास मखारिया (जिसने कथित तौर पर रिश्वत दी), तलवंडी साबो प्राइवेट लिमिटेड (टीएसपीएल), मुंबई स्थित बेल टूल्स लिमिटेड (जिसके मार्फत कथित तौर पर रिश्वत पहुंचाई गई) के खिलाफ कई धाराओं के तहत मामला दर्ज करने के बाद ये छापेमारी की। 

कार्ति ने सीबीआई छापों के तुरंत बाद इस बारे में ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने लिखा कि, ‘‘ अब तो मैं गिनती भी भूल गया हूं कि कितनी बार ऐसा हुआ है? शायद यह एक रिकॉर्ड होगा। ’’ बाद में उन्होंने और ट्वीट कर कहा कि उनके कार्यालय ने उन्हें छापों के बारे में जानकारी दी है। उन्होंने कहा, “मेरे कार्यालय ने अभी ‘रिकॉर्ड’ के बारे में अद्यतन जानकारी दी है, 2015 में दो बार, 2017 में एक बार, 2018 में दो बार और आज, छह!”