हंगामे में दो पुलिसकर्मी सहित कई लोग घायल…

दिल्ली में हनुमान जन्माेत्सव शाेभा यात्रा पर पथराव

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी में शनिवार की शाम दो गुटों के बीच झड़प हाेने से इलाके में तनाव की स्थिति बनी है। शनिवार शाम हनुमान जन्माेत्सव पर निकाली गई शाेभा यात्रा पर कुछ उपद्रवी तत्वाें ने पथराव करना शुरू कर दिया। इससे भगदड़ मच गई। बताया जा रहा है कि गाेली भी चली है। हंगामे में दो पुलिसकर्मी सहित कई लोग घायल हाे गए। मिली जानकारी के अनुसार शोभा यात्रा जैसे ही जहांगीरपुरी के कुशल सिनेमा के पास पहुंची उस पर पथराव होने लगा। दोनों तरफ से पत्थरबाजी हाेने की बात बताई जा रही है। हंगामे ने उग्ररूप ले लिया है। कुछ गाड़ियों को भी आग के हवाले करने की सूचना है। पूरे इलाके में इस घटना के बाद से तनाव का माहौल बना हुआ है। 

बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर मौजूद है। अन्य टुकड़ी काे भी मौके पर माहौल को संभालने के लिए भेजा जा रहा है। निगम पार्षद अजय शर्मा ने बताया कि फिलहाल इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद हैं। लगातार माहौल को शांत करने की कोशिश की जा रही है। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर दोनों समुदाय के लोगों से बातचीत करने में जुटे हैं। अभी भी हंगामा जारी है। दिल्ली के पुलिस कमिश्नर ने दो पुलिसकर्मियों के घायल होने की पुष्टि की है। दिल्ली पुलिस के CP राकेश अस्थाना ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है। घटनास्थल पर अतिरिक्त बल तैनात किया है, इसके साथ ही पूरी दिल्ली के संवेदनशील इलाकों में विशेष तैनाती की गई है। दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। हम आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे। कानून और व्यवस्था के विशेष पुलिस आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने कहा कि 'हम स्थिति का जायज़ा ले रहे हैं। हमारी प्राथमिकता स्थिति को नियंत्रण में लाना है। हम लोग घायलों का आंकलन कर रहे हैं। 

हम लोगों से बात कर शांतिपूर्ण वातावरण बनाने की कोशिश कर रहे हैं। सबसे अपील है कि शांति व्यवस्था बनाए रखें।' उन्होंने कहा कि हमने यहां सुरक्षा की पूरी व्यवस्था की है। लोगों से अपील है कि वह शांति व्यवस्था बनाए रखें और किसी भी तरह की अफवाह में न पड़ें। एक जुलूस के दौरान दो गुटों के बीच झड़प हुई थी। हम लोग मामले की जांच कर रहे हैं। उधर, जहांगीरपुरी में हुई पथराव की घटना पर दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 'लोगों से कहना चाहता हूं कि उन्हें शांति व्यवस्था बनाए रखनी है क्योंकि बिना उसके देश तरक्की नहीं कर सकता। एजेसिंया, पुलिस और दिल्ली में केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है तो केंद्र सरकार दिल्ली में शांति व्यवस्था बनाए रखे।