मुख्यमंत्री ने कराहल में सहरिया स्पेशल प्रोजेक्ट का किया शुभारंभ…

प्रदेश में गरीबों के सम्मान के लिए कोई कोर-कसर नही छोडेंगे : CM शिवराज

ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में गरीबो के सम्मान के लिए कही कोई कोर-कसर नही छोडी जायेगी। गरीबो के हित में सरकार लगातार कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को श्योपुर जिले के आदिवासी विकासखण्ड कराहल में 260 करोड रूपयें की लागत के प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत सहरिया स्पेशल प्रोजेक्ट अंतर्गत सहरिया समाज के हितग्राहियों को मिलने वाले 19 हज़ार 166 आवासों के प्रोजेक्ट का शुभारंभ कर रहे थे। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने 260 करोड के सहरिया स्पेशल प्रोजेक्ट को बडी सौगात बताते हुए कहा कि इसके अलावा 150 करोड रूपयें के विकास निर्माण कार्यो का लोकार्पण एवं शिलान्यास कर सौगात दी है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 260 करोड रूपये की आवास बनाने की है अदभूत योजना है, आज श्योपुर जिले के लिए आनन्द प्रसन्न और खुशी का दिन है।  

उन्होने कहा कि गरीब आदिवासियों के 19 हजार 166 आवास बन जाने से इन गरीबों की जिदंगी ही बदल जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबो, किसानों, माता-बहनों की सरकार है, जब तक इन सभी का उत्थान नही हो जायेगा। मैं शांत नही बैठूगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने संकल्प लिया है कि हर गरीब को पक्का मकान दिया जाये, राज्य सरकार के बजट में प्रावधान भी किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 19 हजार 166 गरीबो के आवास बनाने के लिए गरीब ईट सीमेंट, बजरी के लिए भटके नही। उन्होने कलेक्टर शिवम वर्मा से कहा कि ऐसी सीमेन्ट कंपनी से बात करे कि एक साथ सभी आवासों के लिए सस्ते दामों पर सीमेन्ट भिजवाये, ईट भी स्वसहायता समूहों से खरीदें, ताकि स्वसहायता समूह को भी लाभ मिले और सस्ते दामों पर पक्की ईटे भी मिल जाये।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन लोगों के आवास स्वीकृत हुए है उनके खातों में समय पर किस्त भेजी जाये। उन्होने कहा कि इस काम में गडबडी करने वालो को बक्शा नही जायेगा। मुख्यमंत्री ने आजीविका मिशन से जुडी स्वसहायता समूह की महिलाओं को बधाई देते हुए कहा कि वे बहुत अच्छा काम कर रही है। उन्होने कहा कि स्वसहायता समूह साबुन, डिटरजेन्ट, अमरूद का उत्पादन, जडी बुटियां और मसालों का उत्पादन करके अच्छा पैसा कमा रहे है। उन्होने कहा कि हर जरूरतमंद माता बहनों को स्वसहायता समूहों से जोडे, ताकि वे भी अपना आर्थिक एवं सामाजिक उत्थान कर सकें। उन्होने कहा कि फुटपाथ पर दुकान चलाने वालो को लगातार पथ विक्रेता योजना में आर्थिक मदद दी जा रही है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि आगामी पुलिस भर्ती में ऐसे आदिवासी युवा जो भाग दौड करते रहते है, उन्हे कांसटेबल की भर्ती के लिए भर्ती के प्रयास किये जायेगे।

इस हेतु भाग दौड के अंक भी भर्ती में निर्धारित किये जाने का विचार विमर्श चल रहा है। उन्होने कहा कि हर जिलें में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए रोजगार मेलों का आयोजन हर माह किया जाकर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार से जोडने की व्यवस्था की है। उन्होने कहा कि राशन भिजवाने के लिए वाहन भी उसी क्षेत्र के युवाओं को इस मंशा से दिये जा रहे है कि उन्हे रोजगार मिल सकें। राशन आपके द्वार योजना में वाहनों से राशन पहुंचाने की व्यवस्था इन वाहनों के माध्यम से की गई है। उन्होने मौके पर अधिकारियों को हिदायत दी कि कोई भी व्यक्ति राशन से वंचित नही रहना चाहिए। उन्होने कहा कि जो लोग बीपीएल सूची में छूटे है, उनके भी नाम जोडने की कार्यवाही की जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री खाद्यान योजना में गरीबो से 05 किलो और मुख्यमंत्री अन्नपूर्ण योजना में एक रूपयें में 10 किलो राशन दिया जा रहा है। 

उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार किसी भी गरीब को भूखा नही सोने देगी। उन्होने कहा कि गरीब आदिवासियों को राशन की दुकान का चक्कर नही लगाना पडे, इसके लिए उन्हे घर-घर पर राशन पहुंचाने की योजना राशन आपके ग्राम योजना शुरू की गई है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री एवं क्षेत्रीय सांसद नरेंद्र सिंह तोमर ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्योपुर जिले को 400 करोड़ रुपये की सौगात दी है। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि आज श्योपुर जिले के लिए सौभाग्य का दिन है, यहां आदिवासी भाईयों को 19 हजार 166 आवासों निर्माण की सौगात मुख्यमंत्री जी द्वारा दी गई है। इस प्रोजेक्ट पर 260 करोड रूपया व्यय की जायेगा। यह राशि इन हितग्राहियों के खातों में सीधे भेजी जायेगी। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में संपूर्ण मध्यप्रदेश में तीव्र गति से विकास कार्य चल रहे है, फिर चाहे वे बिजली के हो, चाहे सडको, तालाबों के राज सरकार पुल, पुलियों से लेकर प्रदेश का चहुमुखी विकास कर रही है। श्री तोमर ने कहा कि एक कालखण्ड ऐसा भी था जब व्यक्ति आवास को प्राप्त करने के लिए समय देखता था। अब ऐसी स्थिति नही है, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संकल्प लिया है कि कोई भी गरीब बगैर छत के नही रहेगा। उन्होने कह कि सरकार ने देश में अभी तक 32 करोड़ आवासों का निर्माण कराकर ग्रामीणों को उपलब्ध कराये है। इसमें ज्यादा आवास मध्यप्रदेश में बनाये गए है। उन्होने कहा कि श्योपुर जिलें में ही सहरिया भील-भीलाला कोरकू जनजाति परिवारों को 22 हजार से अधिक मकान स्वीकृत किए गए है। जिनमें से 21 हजार मकान बनाकर गृह प्रवेश करा दिया है। 

इसके बाद भी आदिवासी परिवारों को एक बडी संख्या में वंचित थी। जिन्हे अब 19 हजार 166 आवास स्वीकृत कर 260 करोड रूपयें की राशि स्वीकृत की गई है। केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि आज मुख्यमंत्री जी ने कराहल और ढोढर को कार्यो का भूमि पूजन किया है। 100 करोड रूपये की लागत दो सडको का शिलान्यास किया है। इसके अलावा जल जीवन मिशन के तहत जल रचनाओं, छात्रावासों का शिलान्यास मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में हुआ है। उन्होने क्षेत्र में गिर गाय नस्ल को बढावा देने गोरस में 14 गांवों को राजस्व गांव बनाने की बात भी कही। 

प्रदेश के खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार एवं जिले के प्रभारी मंत्री भारत सिंह कुशवाह ने हा कि आज श्योपुर जिले के लिए एतिहासिक दिन है, यहा के सौभाग्यशाली 19 हजार से अधिक आदिवासी परिवारों को आवास की सौगात मिली है। उन्होने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री जी ऐसे जननायक है, जिन्हे हर गरीब, किसान, पिछडे की चिन्ता रहती है। उन्होने देश में मध्यप्रदेश की एक पहचान बनाई है। जिससे किसानों के लिए जहां बात आती है, तो मध्यप्रदेश के किसानों की आती है। उन्होने कहा कि मध्यप्रदेश प्रदेश पहला राज्य है, जहां किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के 6 हजार रूपयें के साथ मध्यप्रदेश सरकार 4 हजार रूपयें मिलाकर 10 हजार रूपयें दिये जा रहे है। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने गरीब किसानों का दर्द समझा है।

ये की घोषणाएं -

  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्योपुर जिलें में स्वीकृत मेडिकल कॉलेज के संबंध में कहा कि मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए बजट में प्रावधान कर दिया गया है।
  • मूझंरी डैम निर्माण की स्वीकृति देकर बजट प्रावधान किया गया है। विजयपुर क्षेत्र के चेटीखेडा डैम के निर्माण की स्वीकृति एक माह के अन्दर जारी कर दी जायेगी।
  • गसवानी के 14 वनग्रामों को राजस्व गांव बनाने की कार्यवाही की जायेगी।
  • मुख्यमंत्री कन्या विवाह और तीर्थदर्शन योजना पुनः शुरू की जायेगी।
  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर द्वारा कार्यक्रम के दौरान 150 करोड रूपयें के विकास निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया गया।
  • गिर गाय नस्ल सुधार परियोजना का शुभारंभ किया गया।
  • राशन आपके ग्राम योजना में हितग्राहियों को वाहनों की चाबियां सौंपी।