केंद्रीय विश्वविद्यालय सागर में…

कॉलेज में नमाज से बढ़ा विवाद, हिंदू संगठनों ने विरोध में पढ़ा हनुमान चलीसा

सागर। केंद्रीय विश्वविद्यालय सागर में एक छात्रा द्वारा हिजाब पहनकर नमाज़ पढ़े जाने का वीडियो वायरल होने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने जहां तीन दिन में जांच के आदेश दिए हैं वहीं, अब अलग-अलग संगठनों द्वारा प्रतिक्रिया भी सामने आ रही हैं। सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होता वीडियो सागर के डॉ. हरिसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय के एजुकेशन डिपार्टमेंट का है। यहां दमोह निवासी एक छात्रा जो नियमित रूप से हिजाब पहन कर आती है, वह शुक्रवार दोपहर में यूनिवर्सिटी में ही नमाज अदा कर रही थी। 

वीडियो वायरल होते ही कई हिंदू संगठन इसके विरोध में उतर आए और विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार और कुलपति से शिकायत की। छात्रा बीएससी बीएड की पढ़ाई कर रही है। इस संबंध में जब केंद्रीय विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर नीलिमा गुप्ता से बात की गई तो उनका कहना है कि, मैं कल रात ही सागर पहुंची हूं और मामला मेरे संज्ञान में आया है। छात्रा का हिजाब में आना कोई नई बात नहीं है, लेकिन यूनिवर्सिटी कॉरिडोर में नमाज पढ़ने का वीडियो वायरल होने के बाद एक जांच कमेटी गठित कर घटना की जांच के निर्देश दिए हैं। 

जो घटना से संबंधित तथ्यों को हमारे सामने रखेगी। उन्होंने कहा कि, हमने छात्र-छात्राओं को निर्देशित किया है कि विश्वविद्यालय में पठन-पाठन का माहौल रहता है, जितने भी सांप्रदायिक कार्य हैं, उन्हें घर या किसी धार्मिक स्थल पर करें। जिससे विश्व विद्यालय में पठन-पाठन का माहौल बना रहे। इसके साथ ही, मामले में विश्वविद्यालय के मीडिया ऑफिसर विवेक जायसवाल ने कहा कि, संगठनों ने एक वायरल वीडियो के आधार पर शिकायत दर्ज कराई है। प्रशासन वीडियो की जांच और मामले का अध्ययन कर आगे कार्रवाई का निर्णय करेगा।