मध्यप्रदेश में पत्रकारो पत्र पत्रिकाओं के संपादकों के हितों की आवाज उठाने वाले…

मप्र श्रमजीवी पत्रकार संघ मध्यप्रदेश के अध्यक्ष पद का चुनाव 5 को

 

डबरा। मध्यप्रदेश में पत्रकारो छोटे मझोले साप्ताहिक मासिक पत्र पत्रिकाओं के संपादकों के हितों की आवाज उठाने वाले एक मात्र मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ मध्यप्रदेश के संस्थापक प्रदेश अध्यक्ष श्री शलभ भदौरिया ने प्रदेश में चाहे किसी की सरकार रही हो और प्रदेश से  केंद्र तक पत्रकारो छोटे संपादको के हक अधिकार की लड़ाई लड़ी है आवाज बुलंद कर न्याय दिलाने में मदद करते हुए मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ मध्यप्रदेश में एक अलग ही पहचान बनी है जिसके मध्यप्रदेश में हर जिले तहसीलों संभाग स्तरीय संघ के सदस्य बने हैं।

इस संघ के  हर साल श्रम विभाग के नियम अनुसार पदाधिकारीयों के चुनाव भी कराये जाते हैं। हर वर्ष नये अध्यक्ष बना करते हैं अगर संघ में अध्यक्ष पद पर कार्यरत रहते अच्छा काम करते हैं तो दोबारा मौका भी मिल जाता है। इस तरह संगठन ने मध्यप्रदेश में अलग पहचान बनाई है श्री शलभ भदौरिया ने अपने जीवन काल में पत्रकारो संपादको के हितों की रक्षा के हरदम खड़े रहते हैं। इसलिए पुरे देश में दो साल से कोरोनावायरस की लहर है हर आम नागरिक परेशान रहा है और इस पत्रकारो ने भी इस महामारी में जनता हितों की आवाज बखूबी निभाया है

इसलिए डबरा जिला इकाई के भी कोई भी दो सालों से कार्यक्रम आयोजित भी नहीं हो सके जिससे पत्रकारो संपादको के मान में अब कोरोनावायरस खत्म होने के बाद संघ मध्यप्रदेश में  सक्रिय हो गया है इसलिए जिला इकाई डबरा का चुनाव भी घोषित हो गया है शलभ भदौरिया के निर्देश पर ग्वालियर जिला प्रभारी साथी जीतेंद्र गौतम ने चुनाव अधिकारियों को नियुक्ति कर दिया और उसके देख रेख में पांच मार्च 2022को समय दस बजे स्थान लाइन्स क्लाब सरकारी अस्पताल के पास डबरा जिला ग्वालियर में जिला इकाई अध्यक्ष पद हेतु चुनाव कराया जायेगा।

जिसमें 72 सदस्य को ही मतदान करने का अधिकार होगा। जो संघ में सदस्य की सूची संख्या है अगर बड़े हुए सदस्य भी मतदान कर सकते हैं यह सदस्य में से चुनाव अध्यक्ष पद का दावेदार बन सकते हैं।  जिसे डबरा, चीनोर, भितरवार घाटीगांव,बिलौआ,, आंतरी, पिछोर, टेकनपुर, छीमक, के सदस्य ही शामिल रहेंगे। इसलिए सभी सदस्यों को आना अनिवार्य है जिससे पुरे ग्वालियर जिले मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ मध्यप्रदेश डबरा जिला इकाई की आवाज भोपाल तक पहुंच सके।