स्कूल शिक्षा मंत्री शिक्षा नीति पर बोले…

आजादी के बाद से पढ़ाये जा रहे झूठे तथ्य : इंदर सिंह परमार

 

होशंगाबाद। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार शुक्रवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के 54वें प्रांतीय अधिवेशन के कार्यक्रम में शामिल हुए। यहां उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से सरकारों ने हमें गुमराह किया है। वास्कोडिगामा ने भारत की खोज, कोलंबस ने अमेरिका की खोजा जैसा झूठा पाठ हमें पढ़ाया गया। अब देश की शिक्षा व्यवस्था में नई शिक्षा नीति-2020 के जरिए सुधार होगा।

मीडिया से चर्चा के दौरान इंदर सिंह परमार ने आखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नीति और राष्ट्रीय सोच के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मैकाले शिक्षा पद्धति से आजादी के बाद सरकारों ने हमे गुमराह किया है। उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर कहा कि वर्तमान में 360 स्कूलों को सर्व सुविधा युक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है। आने वाले समय मे 10 हजार स्कूलों को सर्व सुविधा युक्त बनाया जाएगा। इंदर सिंह परमार ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का प्रतिवर्ष अधिवेशन होता है। इसमें शिक्षा के क्षेत्र में मंथन का चिंतन होता है। शिक्षा के क्षेत्र के सभी विषयों पर चर्चा होकर एक नीति बनती है।

उसी के अनुसार विद्यार्थी परिषद काम करता है। यह अधिवेशन भी शिक्षा के क्षेत्र में एक प्रथकरण है। मंत्री परमार ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में मध्य प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार मिलकर काम कर रही है। पूरे देश में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 ही लागू हुई है। उसी पर मंथन कर रहे हैं। स्कूल शिक्षा विभाग ने उस पर काम चालू कर दिया है। हम 360 स्कूलों को सर्व सुविधा युक्त बनाएंगे। ताकि आने वाले समय में 10 हजार स्कूलों को अच्छे से अच्छा बना सकें।