बैंकों के निजीकरण को लेकर विरोध जताने…

16 और 17 दिसंबर को प्रदेश के करीब 40 हजार बैंककर्मी करेंगे हड़ताल

मध्यप्रदेश के करीब 40 हजार बैंककर्मी 16 और 17 दिसंबर को हड़ताल पर रहेंगे। इससे प्रदेश की 7 हजार ब्रांच में दो दिन तक ताले लटके रहेंगे। भोपाल में 300 ब्रांच है। जिसके 5 हजार बैंककर्मी इस हड़ताल में शामिल रहेंगे। वे बैंकों के निजीकरण को लेकर किए जा रहे प्रयासों का विरोध जताएंगे। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर यह देशव्यापी हड़ताल रहेगी। 

यूनियंस के को-ऑर्डिनेटर वीके शर्मा और संयोजक संजीव सबलोक ने बताया, देशव्यापी हड़ताल में मध्यप्रदेश के सभी बैंकों के अधिकारी-कर्मचारी हिस्सा लेंगे। यूनियंस के को-ऑर्डिनेटर शर्मा ने बाताया, सरकार बैंकों के निजीकरण को लेकर लगातार प्रयास कर रही है। जिसका देशभर में विरोध किया जा रहा है। इसलिए 16 और 17 दिसंबर को हड़ताल करके सरकार को चेताएंगे। 

यदि सरकार ऐसे प्रयास नहीं रोकती है तो आगे भी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा सकते हैं। दो दिनी हड़ताल के चलते बैंकिंग काम पूरी तरह से ठप रहेंगे। वहीं, हड़ताल के बाद 18 दिसंबर को शनिवार है। ऐसे में ज्यादा काम नहीं होगा। वहीं, 19 दिसंबर को रविवार होने से बैंक की छुट्टी रहेगी। ऐसे में लोग हड़ताल से पहले अपने जरूरी काम निपटा लें। ताकि, किसी प्रकार की दिक्कतें न हों।