जब मंत्री काे भी जमकर सुनाईं खरी खाेटी…

श्याेपुर में लाेगाें से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री के वाहन पर फेंका कीचड़

ग्वालियर। केंद्रीय कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह ताेमर ने आज मुरैना व श्याेपुर के बाढ़ ग्रस्त इलाकाें का हवाई दाैरा किया। इस दाैरान वह श्याेपुर में हेलीकॉप्टर से उतरकर जब लाेगाें से मिलने के लिए पहुंचे ताे लाेगाें ने उनकाे घेर लिया। प्रशासन के लापरवाह रवैये से नाराज लाेगाें ने केंद्रीय मंत्री काे भी जमकर खरी खाेटी सुनाई। इस दाैरान कुछ महिलाओं द्वारा केंद्रीय मंत्री से अभद्रता भी की गई। वहीं कुछ लाेगाें ने केंद्रीय मंत्री के वाहन पर कीचड़ फेंक दिया इसके बाद पुलिस एवं प्रशासनिक अफसराें ने जैसे-तैसे केंद्रीय मंत्री काे वहां से निकाला।

बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए क्षेत्रीय सांसद एवं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर शनिवार को श्याेपुर पहुंचे थे। इस दौरान केंद्रीय मंत्री जब गणेश बाजार पहुंचे ताे आक्राेशित लाेगाें ने उन्हें घेर लिया। यहां पर केंद्रीय मंत्री एवं प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई। आक्रोशित लोगों ने केंद्रीय मंत्री सहित प्रशासनिक अफसराें की गाड़ियों पर कीचड़ फेंक दिया। खरादी बाजार में एक पीड़ित व्यक्ति नरेंद्र सिंह तोमर की गाड़ी के आगे लेट गया, लेकिन पुलिस ने उसे तत्काल खींचकर उठा लिया। गणेश मंदिर के पीछे व्यापारियों ने नरेंद्र सिंह तोमर के खिलाफ जमकर मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए प्रशासन के अधिकारियों को बाजार में घुसने नहीं दिया। 

कलेक्टर व सीएमओ को लोगों की हत्या का जिम्मेदार बताते हुए हटाने की मांग की। बाजार में निकलने के दौरान कई जगह नरेंद्र सिंह तोमर के साथ लोगों ने धक्का-मुक्की तक कर दी। गणेश मंदिर पर लोगों ने केंद्रीय मंत्री का विरोध करते काले कपड़े फेंके। मेन बाजार में लोगों ने केंद्रीय मंत्री का तालियां बजाकर विरोध किया। गणेश बाजार से चौराहे तक पहुंचने के बाद जब लोगों का विरोध बढ़ता दिखाई दिया तो गोलंबर पर पहुंचने के बाद केंद्रीय मंत्री अपनी गाड़ी से बैठकर कलेक्ट्रेट निकल गए। हर संभव मदद मुहैया कराएंगेः केंद्रीय मंत्री तोमर के साथ मुरैना व श्योपुर जिले के प्रभारी मंत्री एवं प्रदेश के उद्यानिकी व खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री ( स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह भी थे। 

केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि बाढ़ प्रभावित परिवारों को केंद्र व राज्य सरकार से हर संभव मदद मुहैया कराई जाएगी। साथ ही अतिवृष्टि और बाढ़ से खराब हुई अधोसरंचना अभियान बतौर दुरुस्त कराकर बिजली सप्लाई शुरू कराई जाएगी। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मुरेना व श्योपुर जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बाढ़ प्रभावित परिवारों तक युद्ध स्तर पर राहत पहुंचाई जाए। केन्द्रीय मंत्री ने बाढ़ प्रभावित परिवारों से धैर्य बनाए रखने की अपील करते हुए कहा है कि केंद्र व राज्य सरकार संकट की इस घड़ी में पूरी ताकत के साथ बाढ़ प्रभावित परिवारों के साथ खड़ी है।