जांच के बाद भी…

घोटाले के जिम्मेदार अधिकारियों पर नहीं हुई कोई कार्रवाई !

ग्वालियर। शासकीय क्षेत्रीय मुद्रणालय में व्याप्त भ्रष्टाचार ओर घोटालों की जांच के लिए राजस्व विभाग के सचिव एंव प्रेस के नियंत्रक ज्ञानेश्वर बी पाटिल ने भोपाल से पांच सदस्यीय टीम भेजकर जांच करवाई थी जिसमें बड़े स्तर पर गड़बड़ी पाई गई थी लेकिन आज तक भ्रष्टाचारियों पर कोई कार्रवाई नही की गई है। यह बात शासकीय प्रेस कर्मचारी एकता यूनियन द्वारा प्रेस को जारी विज्ञप्ति में बताई गई है। शासकीय प्रेस कर्मचारी एकता यूनियन ग्वालियर के पदाधिकारियो ने बताया कि महाराज बाड़ा स्थित शासकीय प्रेस में भ्रष्टाचार और अनियमितताओं की शिकायत मिलने पर राजस्व विभाग के सचिव एवं प्रेस के नियंत्रक ज्ञानेश्वर बी पाटिल ने भोपाल से एक पांच सदस्यीय टीम 31 जुलाई को जांच के लिए भेजी थी। 

टीम को जांच में लाखों रुपए की गड़बड़ी एंव अनियमितताआें का पता चला था। जिसके बाद चार-पांच कर्मचारियों को नोटिस भी जारी किए गए थे लेकिन घोटाले के जिम्मेदार अधिकारियों पर कोई कार्रवाई नही की गई। जबकि इस अधिकारी पर 2013 में लोकायुक्त भोपाल में प्लेटे चोरी से बेचने का आरोप भी लग चुका है। शासकीय प्रेस कर्मचारी एकता यूनियन सीटू के कार्यकारी अध्यक्ष किशनलाल रेंगर और पदाधिकारियों ने मांग की है कि भ्रष्ट अधिकारियों पर जल्द से जल्द कार्रवाई की जाए और शासकीय संपत्तियों को घोटालेबाजों से बचाया जाए।