मित्रता दिवस स्पेशल

जिसके साथ खून का सम्बन्ध नहीं होता, फिर भी प्रिय लगे..

वह है दोस्त

जिसके साथ दुनियां भर की बातें करके भी थकान ना लगे .... 

वह है दोस्त

जिसके साथ छोटी सी बात पर भी खुल कर हंस लेते हैं...

वह है दोस्त

जिसके कंधे पर माथा रख कर रो सकते हैं ....

वह है दोस्त

जिसके साथ ठंडी चाय भी एक दम गरम लगे ....

वह है दोस्त

जिसके साथ खिचड़ी भी खाने में दावत जैसी लगे....

वह है दोस्त

जिसको आधी रात को भी उठा कर दिल की बात कर सके....

वह है दोस्त

जिसके साथ बिताए गए पलों को याद करने भर से, चहरे पर मुस्कान आ जाए.......

वह है दोस्त

जिसके साथ कोई भूमिका बनाए बिना खुल कर बात करें और वह स्वीकार करे .....

वह है दोस्त

एक अरसे के बाद भी जिसको मिलते ही दिल झूम उठे....

वह है दोस्त

दूर रहते हुए भी जिसके साथ दिल के तार जुड़े हो.....

वह है दोस्त

दोस्ती वो है मेरे दोस्त जो बेजान जिंदगी में भी जान डाल दे..

वह है दोस्त

संक्षेप में दोस्त वो है जो हर मुसीबत में हर तरह से साथ निभाये

सभी दोस्तों को समर्पित