स्वनिधि योजना के द्वितीय चरण का हुआ शुभारंभ किया…

विकास का प्रकाश गरीबों तक पहुँचाने के लिए सरकार संकल्पित : CM शिवराज

ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश सरकार गरीबों के कल्याण के लिए लगातार कार्य कर रही है। साथ ही जन-कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से गरीबों का जीवन-स्तर बेहतर बनाया जा रहा है। विकास का प्रकाश गरीबों तक पहुँचाने के लिए सरकार संकल्पित है। हम गरीबों के समावेशी विकास तथा सबका साथ-सबका विकास की अवधारणा पर चल रहे है। प्रदेश में गरीबों के लिए रोटी, कपड़ा, मकान के साथ पढ़ाई-लिखाई और दवाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज बालाघाट में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में प्रथम एवं द्वितीय किश्त वितरण के राज्य स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के 50 हजार हितग्राहियों के खाते में 50 करोड़ की राशि सिंगल क्लिक से अंतरित की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वनिधि योजना के द्वितीय चरण का शुभारंभ भी किया। योजना के द्वितीय चरण में हितग्राहियों के खाते में ब्याज मुक्त 20-20 हजार रूपये की राशि अंतरित की। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह योजना कोविड संकट के दौरान प्रभावित होने वाले छोटे व्यापारियों के लिए संजीवनी बनी है। उन्होंने कहा कि स्वनिधि योजना से मिलने वाली सहायता राशि से छोटे व्यापारी धीरे-धीरे अपना काम बढ़ा सकते हैं। सरकार सबसे पीछे एवं सबसे नीचे के व्यक्ति के कल्याण के लिए प्रतिबद्धता से काम कर रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश पूरे देश में प्रथम हैं। योजना के प्रारंभ में ही लगभग 3.50 लाख हितग्राहियों को 10-10 हजार रूपये की सहायता राशि वितरित की गई थी। आज योजना के द्वितीय चरण के शुभारंभ पर प्रदेश के लगभग 1000 हितग्राहियों को योजना की द्वितीय किस्त 20-20 हजार रूपये प्रदान की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पीएम स्वनिधि योजना का लाभ छोटे वर्ग को निरंतर मिल रहा है। इससे उनके जीवन की गाड़ी कोविड एवं अन्य विपरीत परिस्थितियों में भी चल रही है। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्व-सहायता समूहों को कोविड संकट के पूर्व दी जाने वाली मदद को सरकार द्वारा पुनः प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं में अद्भुत रचनात्मक शक्ति होती है। देश एवं प्रदेश का सशक्तिकरण, महिलाओं के सशक्तिकरण के बिना संभव नहीं है। महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए उनका आर्थिक सशक्तिकरण अति आवश्यक है। गरीबों को अन्नोत्सव में कम मूल्य पर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए कि खाद्यान्न उपलब्धता से कोई पात्र गरीब वंचित न रहे। छूटे हुए नाम तत्काल जोड़ें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीबों का कल्याण प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। गरीबों के लिए रोटी के साथ मकान भी जरूरी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वर्ष 2024 तक सभी गरीबों को पक्के मकान उपलब्ध करा दिए जाएंगे। गरीबों के विकास में सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। आगामी 18 तारीख को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के द्वितीय चरण में 5 लाख नए कनेक्शन दिए जाएंगे।