पाकिस्तान में इस्लामिक शांतिदूतों का कृत्य ...

हिन्दू मंदिरों को नष्ट करते जुनूनी इस्लाम के रखवाले !

क्या किसी किताब या धर्म ग्रंथ में ऐसा लिखा है ? कि जहाँ मोमिनों की सँख्या अधिक अथवा बहुसंख्यक होगी वहाँ अन्य धर्म संप्रदाय और पंथ विचारधारा का कोई अस्तित्व नही होगा । क्या इस्लाम यह कहता है ? कि गैर मुस्लिम काफ़िर होते हैं और काफ़िरो की हत्या, उनके जान माल को लूटना माले ग़नीमत है, उनके धर्मस्थलो को नष्ट करना जिहाद है।

भारत मे हिन्दू बहुसंख्यक होते हुए भी किसी के अधिकारों का हनन नही करते और न किसी की आस्था को ठेस पहुचाते है। हा गलती से कोई अपराधी या जिहादी के साथ कुछ हो जाये तो पूरा देश अपने सर उठाकर अन्य देशो में भारत छवि ख़राब करने में सभी विधर्मी विकृत मानसिकता वाले बुद्धिजीवियों की फौज खड़ी हो जाती है।