Covid में जान गंवाने वाले शासकीय सेवकों के परिजनों को…

संभाग आयुक्त एवं कलेक्टर ने वितरित किये अनुकम्पा नियुक्ति पत्रक 

ग्वालियर। असमय इहलोक से विदा ले चुके लोगों को वापस तो नहीं बुलाया जा सकता। पर उनके परिवार के दु:ख में सहभागी बनकर परिजनों की तकलीफें जरूर कम की जा सकती हैं। कोविड-19 से संक्रमित होकर असमय दुनिया छोड़कर चले गए शासकीय सेवकों के परिजनों को  प्रदेश सरकार ने इसी भावना के साथ सहारा दिया है। सरकार ने कोरोना से दिवंगत शासकीय सेवकों के परिजनों को अनुकम्पा नियुक्ति देकर दु:खी परिवारों के आँसू पोंछे हैं। कोविड-19 की वजह से जिन शासकीय सेवकों का निधन हुआ है उनके परिजनों को विभिन्न विभागों में अनुकम्पा नियुक्ति देने के लिए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री कोविड-19 अनुकम्पा नियुक्ति योजना शुरू की है। इस योजना के तहत शुक्रवार को ग्वालियर जिले के 6 आवेदकों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की वर्चुअल मौजूदगी में अनुकम्पा नियुक्ति पत्र सौंपे गए। इनके अलावा प्रदेश के विभिन्न जिलों में कुल मिलाकर 454 दिवंगत शासकीय सेवकों के परिजनों को अनुकम्पा नियुक्ति पत्र प्रदान किए गए। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपनी वर्चुअल मौजूदगी में इन शासकीय सेवकों को अनुकम्पा नियुक्ति पत्र दिलवाए। साथ ही अनुकम्पा नियुक्ति पाने वाले सभी शासकीय सेवकों को उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनायें दीं और भरोसा दिलया कि प्रदेश सरकार आपके साथ है। यहाँ कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कक्ष में संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना और कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने शासकीय सेवकों को नियुक्ति पत्र सौंपे। इस अवसर पर नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा, जिला पंचायत के सीईओ किशोर कान्याल, अपर कलेक्टर आशीष तिवारी, रिंकेश वैश्य व टी एन सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। अनुकम्पा नियुक्ति पत्र लेने आईं 10 नम्बर लाईन बैरक क्वाटर ठाठीपुर निवासी कु. श्रृद्धा दोहरे लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में पंप अटेंडेंट का नियुक्ति आदेश पाकर खुश तो थीं पर उनकी अपने पिता की याद में आंखे छलक आईं। रूंधे गले से श्रृद्धा बोलीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अनुकम्पा नियुक्ति देकर हमारे परिवार को टूटने से बचा लिया। श्रृद्धा के पिता स्व. रामचंद दोहरे कार्यभारित अटेंडेंट के पद पर कार्यरत थे। कर्तव्य निर्वहन के दौरान ही वे कोरोना से संक्रमित हो गए। अस्पताल में इलाज चला पर उन्हें बचाया नहीं जा सका। 

इसी तरह लाला का बाजार निवासी अजय बाथम को श्रम विभाग में सहायक वर्ग-3 के पद पर, न्यू कौलोनी घोसीपुरा मुरार निवासी मनीष गहलोत को वनरक्षक एवं यमुना नगर ठाठीपुर निवासी सुगम सिंह कांदिल को वन विभाग में सहायक वर्ग-3 के पद पर अनुकम्पा नियुक्ति मिली है। इन सभी ने भी अनुकम्पा नियुक्ति पत्र पाकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया। अजय बाथम के पिता स्व. नरसिंह बाथम श्रम विभाग में भृत्य, मनीष गेहलोत के पिता स्व. बृजमोहन चिड़ार वन रक्षक एवं सुगम सिंह कांदिल के पिता स्व. सुरेन्द्र सिंह कांदिल फोरेस्ट रेंजर के पद पर पदस्थ थे। कोरोना संक्रमित होने से इन तीनों शासकीय सेवकों के पिता का असमय देहांत हो गया था। इनके इलावा डबरा निवासी अभिमन्यु अग्रवाल को उच्च शिक्षा विभाग में सहायक ग्रेड-3 के पद पर अनुकम्पा नियुक्ति मिली है। इनके पिता स्व. राकेश कुमार अग्रवाल प्राध्यापक पद पर पदस्थ थे। इसी तरह काशीपुरा सिंह पुर रोड़ मुरार निवासी रवि गांगिल को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में प्रयोगशाला शिक्षक के पद पर अनुकम्पा नियुक्ति दी गई है। उनकी माता स्व. रेणुका धामी अध्यापक के पद पर कार्यरत थीं।