श्री तोमर ने क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की बैठक में दिए निर्देश…

संक्रमण की रोकथाम के लिये सब मिलकर प्रयास करें : ऊर्जा मंत्री

ग्वालियर। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एवं कोविड के लिये जिले के प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिये सबको मिलकर प्रयास करने की आवश्यकता है। कोविड महामारी से डरने की नहीं बल्कि सावधानी की नितांत आवश्यकता है। ऊर्जा मंत्री ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय के एनआईसी कक्ष से डबरा एवं मुरार विकासखण्ड के क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की वर्चुअली बैठक में यह बात कही। क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की मुरार बैठक में उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह, जिला पंचायत प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष मनीषा भुजवल सिंह यादव, पूर्व विधायक मदन कुशवाह के साथ ही डबरा विकासखण्ड की क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की बैठक में डबरा के विधायक सुरेश राजे सहित क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यगण, विभागीय अधिकारियों के साथ ही सीईओ जिला पंचायत किशोर कान्याल, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी विजय दुबे भी शामिल हुए। 

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बैठक में कहा कि जिन ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के प्रकरण सामने आ रहे हैं उन गाँवों में आवागमन प्रतिबंधित किया जाए। इसके साथ ही ऐसे सभी गाँवों में सेनेटाइजेशन की विशेष व्यवस्था की जाए। ग्रामीण क्षेत्र में जो लोग संक्रमित हैं उन्हें होम क्वारंटाइन अथवा संस्थागत क्वारंटाइन किया जाए। जिन लोगों में अधिक संक्रमण है उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की व्यवस्था भी की जाए। इसके लिये सभी विकासखण्ड स्तर पर एम्बूलेंस की व्यवस्था सुनिश्चित हो। ऊर्जा मंत्री ने यह भी कहा कि किल कोरोना-3 अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर सर्वेक्षण का कार्य प्रभावी रूप से किया जाए। इस सर्वेक्षण के दौरान जिन लोगों में संक्रमण हैं उनका चिन्हांकन करने के साथ ही दवाओं का वितरण एवं सभी एहतियाती कदम उठाए जाएं। 

उन्होंने यह भी कहा कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिये जिले में लागू जनता कर्फ्यू का पालन भी पूरी कड़ाई के साथ हो यह सुनिश्चित किया जाए। ऊर्जा मंत्री ने यह भी निर्देशित किया है कि उचित मूल्य की दुकानों से जो नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है वह पूरी गति के साथ प्रदान किया जाए। कोई भी पात्र हितग्राही खाद्यान्न की उपलब्धता से वंचित नहीं रहना चाहिए। प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह ने बैठक में कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहर से लगे हुए वार्डों में भी निगम के माध्यम से सेनेटाइजेशन का कार्य किया जाना चाहिए। सभी प्रभावित लोगों का सर्वेक्षण एवं दवा वितरण का कार्य भी तत्परता से किया जाए। उन्होंने क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सभी सदस्यों से भी आग्रह किया कि प्रशासनिक प्रयासों के साथ-साथ सभी सदस्य भी अपने स्तर से ग्रामीणजनों में जन जागरूकता के लिये विशेष प्रयास करें। बैठक में डबरा विधायक सुरेश राजे ने भी अपने महत्वपूर्ण सुझाव रखे।