लोगों से परेशान होकर सबक सिखाने का अनोखा अंदाज…

लोगों के जूते-चप्पल बोरी में भरकर ले गए पुलिसकर्मी !

भोपाल में समझाइश के बाद सख्ती करने से भी बात नहीं नहीं बनी तो पुलिस ने लोगों को सबक सिखाने का नया तरीका निकाला है। पुलिस ने मंगलवार शाम मंदिर में दर्शन करने पहुंचे लोगों के जूते-चप्पल जब्त कर उसे थाने में जमा कर दिया। लोग दोबारा ऐसी गलती न करें, इसके लिए वहां आने वाले लोगों की गाड़ियों की हवा तक निकाल दी। पुलिस की इस कार्रवाई को देख लोगों में भगदड़ मच गई और वे वहां-वहां भागते नजर आए। मंदिर के बाहर कुछ लोगों ने इसे अपने मोबाइल फोन में कैद कर लिया। 

छोला मंदिर थाने के TI अनिल सिंह मौर्य ने बताया कि छोला हनुमानगंज में पूरी तरह बंद है। इसके बाद भी लोग यहां मंगलवार और शनिवार को बड़ी संख्या में पहुंच जाते हैं। पिछले दरवाजे भी ताला होने के बाद लोग दरवाजे को धक्का देकर चोरी-छिपे अंदर चले जाते हैं। कई दिनों से लोगों को समझा रहे हैं, लेकिन कोई मानने को तैयार नहीं है। आज छोड़ दो साहब अगली बार नहीं आएं, यह कहकर निकल जाते। इसी से परेशान होकर इस बार नया तरीका अपनाया। लोगों के मंदिर जाने के बाद उनके जूते-चप्पल जब्त कर लिए। लोगों की गाड़ियों की हवा इसलिए निकाली, ताकि वे दोबारा यहां न आए। 

इसके अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं था। इसलिए ऐसा किया गया। हम किसी को परेशान नहीं करना चाहते, लेकिन कर्फ्यू के नियमों का पालन तो सबको करना होगा। पुलिस ने इसके लिए दो युवकों की मदद भी ली। भोपाल पुलिस लोगों के कर्फ्यू का पालन नहीं करने को देखते हुए नए तरीके अपना रही है। एक दिन पहले पुलिस ने काजी कैंप, सिंधी कालोनी और बैरसिया रोड पर लोगों से परेशान होकर शहर काजी के नाम का सहारा लिया था। उनके नाम पर अनाउंसमेंट करवाकर लोगों को घर में रहने की समझाइश दी गई थी।