थमने लगी है संक्रमण की रफ्तार !

प्रदेश में 20 दिन में पहली बारमिले सबसे कम कोविड मरीज

भोपाल। मध्य प्रदेश में अब कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने लगी है. आज प्रदेश में 79737 की कोरोना जांच की गई थी, इन जांच में प्रदेश में कोविड के 3844 के नए मरीज मिले हैं. लगातार कम होते मरीजों से प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 4.8 पर पहुंच गई है. जो पिछले एक महीनें में सबसे कम बताई जा रही है. आज 9327 कोरोना से स्वस्थ हुए. जबकि 89 की कोरोना की वजह से मौत हो गई. मध्य प्रदेश प्रदेश में संक्रमण दर कम हो रही है. 20 दिन में पहली बार पॉजिटिविटी रेट 15% घटकर 5% हो गई है. हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन के मुताबिक यह 3% होना चाहिए. तब यह माना जाएगा कि कोरोना संक्रमण नियंत्रण में आ गया है. ऐसे में प्रदेश सरकार ने अभी 1 जून तक सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं. भले ही प्रदेश में कोविड के मरीजों की संख्या कम हो रही है. 

लेकिन कोरोना मरीजों की मौतेंलगातार हो रही हैं. जिससे सबकी चिंता बढ़ी हई हैं. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना से अब तक 7,483 मौतें हो चुकी है. इसमें 21 मई को हुई 89 मौतें भी शामिल हैं, इसमें सबसे ज्यादा भोपाल में 10 मौतें दर्ज की गई, जबकि ग्वालियर में 9, इंदौर में 7 और जबलपुर में 4 मौतें होना बताया गया है. अप्रैल में 1,798 मौतें हुई, जो कुल मौतों का 24% है. मई माह में अब तक 1,671 मौतें कोरोना से हो चुकी है. मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में कोविड की पॉजिटिविटी रेट अब कम होने लगी हैं. निवाड़ी अलीराजपुर, खंडवा तथा बड़वानी, छतरपुर, टीकमगढ़, दतिया, मुरैना, गुना, श्योपुर, अशोकनगर, छिंदवाड़ा, हरदा, भिंड, बुरहानपुर, मंडला, झाबुआ, साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से कम है. जिससे यहां के जिला प्रशासन ने राहत की सांस ली हैं. 

हालांकि यहां भी 1 जून तक सख्ती रहेगी. इसके अलावा मध्य प्रदेश 5 जिलों में ही 10% से अधिक पॉजिटिविटी है. सर्वाधिक भोपाल जिले में 15%, इंदौर में 13% रीवा में 13%, उज्जैन में 12% तथा अनूपपुर जिले में 11 प्रतिशत पॉजिटिविटी है. जिससे इन जिलों में अभी सख्ती रहेगी. सबसे बड़ी राहत इंदौर से सामने आई हैं. इंदौर में एक्टिव केस का आंकड़ा लगातार कम होता जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग की ताजा रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में अब 62,053 एक्टिव केस हैं. प्रदेश में इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन और रतलाम में 2 हजार या उससे ज्यादा एक्टिव केस है. इंदौर में यह संख्या 9,432 है. यहां 35 दिन बाद एक्टिव केस का आंकड़ा 10 हजार से नीचे आया है. इन छह जिलों में कारोना कर्फ्यू में छूट मिलने की फिलहाल कोई उम्मीद नहीं है.