कोरोना संक्रमण को देखते हुए…

परिवहन विभाग ने पड़ोसी राज्यों के बीच बस सेवा पर 15 मई तक लगाया प्रतिबंध

ग्वालियर। परिवहन विभाग ने कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए पड़ोसी राज्यों के बीच बस सेवा पर 15 मई तक प्रतिबंध लगा दिया है। यात्री, टूरिस्ट, बरात कोई भी बस न प्रदेश आएगी और न जाएगी। राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ राज्य में बस सेवा प्रतिबंधित रहेगी। राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ के बीच तेजी से कोविड-19 का संक्रमण फैल रहा है। बसों में बिना चैकिंग के यात्री प्रदेश में आ रहे थे। जिससे कोविड-19 का संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ गया था। 

इसे ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ व महाराष्ट्र के बीच संचालन अप्रैल में बंद कर दिया था। राजस्थान व उत्तर प्रदेश के बीच बस सेवा पर प्रतिबंध मई में सात दिन के लिए लगाया गया था। इसकी मियाद शुक्रवार को खत्म हो गई, लेकिन संक्रमण में कोई गिरावट नहीं अाई। इसे देखते हुए बस सेवा पर प्रतिबंध 15 मई तक लगा दिया है। संक्रमण को देखते हुए शादियों पर रोक लग गई है। दूसरे राज्यों में शादियों पर रोक नहीं है। 

बरात को ले जाने के लिए लोगों ने पूर्व से बुकिंग करा ली थी, लेकिन जिले में शादियों पर प्रतिबंध लगने के बाद क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय से परिमट जारी नहीं हो रहे हैं। इसके चलते आपरेटरों ने बरात की बुकिंग रद्द कर दी है। शहर में बस सेवा प्रतिबंधित है। जो लोग ट्रेन से शहर आ रहे हैं, उन्हें बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली से बुंदेलखंड के जिलों में जाने वाले उम्मीद में ग्वालियर आ रहे हैं, लेकिन ग्वालियर से कोई साधन नहीं मिलने से स्टैंड पर भटक रहे हैं। उन्हें निजी वाहन से अपने गांव जाना पड़ रहा है।