असामाजिक तत्वों द्वारा संपबेल के इंस्पेक्शन…

निगमायुक्त ने दिए तीन कर्मचारियों की सेवा समाप्ति के निर्देश

ग्वालियर। ग्वालियर के सागरताल के समीप स्थित राजीव आवास योजना आवासों के लिए स्थापित संपबैल पर उसके इंस्पेक्शन चेंबर का ढक्कन खोलकर उसमें बच्चे नहाने की शिकायत सोशल मीडिया पर मिलने के तत्काल बाद निगमायुक्त  शिवम वर्मा ने अधीक्षण यंत्री आर एल एस मौर्य को मौके पर जाकर जांच करने के निर्देश दिए। निगमायुक्त श्री वर्मा के निर्देशानुसार अधीक्षण यंत्री  मौर्य लगभग 3:00 बजे मौके पर उक्त स्थल की जांच करने पहुंचे तो पाया गया कि असामाजिक तत्वों द्वारा संपबेल के इंस्पेक्शन चेंबर का ताला तोड़ दिया गया था। 

विभागीय अधिकारी कर्मचारियों द्वारा देखा गया कि पीने के पानी के संपबैल का ताला टूटा हुआ है। इस कारण संदेह को दूर करने के लिए उसमें भरे हुए पानी की सफाई की जा रही थी । सफाई करने के दौरान मोहल्ले के लड़के जहां पर अक्सर खेलते रहते हैं , अपने कपड़े उतार कर सफाई के दौरान सीढियों के माध्यम से नीचे उतर गए। जो कि वहां कार्य कर रहे कर्मचारियों की लापरवाही का नतीजा था। श्री मौर्य ने बताया कि निरीक्षण उपरांत संपवेल की सफाई की जा कर ब्लीचिंग पाउडर से धुलाई कर उस में पानी भरा जा रहा है एवं उस संपबैल के टूटे हुए तालों को ठीक कर व्यवस्था सुदृढ़ की गई है।

इसके साथ ही निगमायुक्त श्री वर्मा से अनुरोध कर वहां के लिए तीन चौकीदार स्थाई रूप से रखने के लिए स्वीकृति मौखिक स्वीकृति प्राप्त कर ली गई है। संपबैल के अंदर बच्चे नहाने जैसी कोई बात नहीं थी, केवल सफाई के दौरान कुछ बच्चे उसमें उतरते दिखाए गए हैं जो कि वहां के कर्मचारियों की लापरवाही है । उस संपबेल पर जो तीन कर्मचारी उसकी संचालन के लिए रखे गए हैं, उन तीनों कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने के निर्देश निगम आयुक्त श्री वर्मा द्वारा दिए गए हैं।