एयरलिफ्ट कर पहुंचा रही ऑक्सीजन टैंकर…

संकट की घड़ी में भारतीय वायुसेना ने संभाला मोर्चा

नई दिल्ली: देश में जारी कोरोनावायरस की दूसरी लहर के कहर के बीच देश में मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत बढ़ गई है। संकट की इस स्थिति से निपटने के लिए भारतीय वायुसेना सरकार और जनता की मदद के लिए आगे आई है। सरकार को मदद देने के लिए भारतीय वायुसेना ने मोर्चा संभाला है और ऑक्सीजन कंटेनर, सिलिंडर, जरूरी दवाओं, उपकरणों और स्वास्थ्यकर्मियों तक को एयरलिफ्ट कर रहा है। भारतीय वायुसेना के सी-17 और आईएल -76 विमानों ने देश भर के स्टेशनों पर बड़े ऑक्सीजन टैंकरों को एयरलिफ्ट करना शुरू कर दिया है, ताकि ऑक्सीजन के वितरण में तेजी लाई जा सके।

बता दें कि भारत मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन की भारी कमी का सामना कर रहा है और देशभर के कई अस्पताल अब दहशत की स्थिति में आ गए हैं। कल वायु सेना ने अपने एक ट्वीट में कहा था, 'कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में वायु सेना का परिवहन बेड़ा सहयोग कर रहा है। देशभर में चिकित्सा सुविधाओं को पहुंचाने और कोविड अस्पतालों के निर्माण के लिए वह चिकित्साकर्मियों, उपकरणों व दवाओं को एयरलिफ्ट कर रहा है।'

वहीं, देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के चलचे बेकाबू होते हालातों को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 अहम बैठक करेंगे। पीएम मोदी सबसे पहले शुक्रवार सुबह 9 बजे इंटरनल मीटिंग करेंगे। इसके बाद पीएम मोदी सुबह 10 बजे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बात करेंगे। इसके बाद दोपहर 12.30 बजे पीएम मोदी ऑक्सीजन बनाने वाली कंपनियों के साथ बैठक करेंगे। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी बैठक के बाद देश में तेजी से फैल रही कोरोना वायरस की दूसरी लहर को लेकर कुछ बड़े फैसले ले सकते हैं।