सोमवार को ग्वालियर में हुआ कोरोनाविस्फोट, मिले 637 नए संक्रमित

 

ग्वालियर। सोमवार को कोरोना संक्रमण का ग्वालियर में महा विस्फोट हुआ है। 1741 सैंपल में से 576 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। सिर्फ पांच दिन में कोरोना संक्रमित का आंकड़ा 20 हजार से बढ़कर 22 हजार के पार हो गया है। धीरे-धीरे कोरोना संक्रमण की स्पीड बढ़ती जा रही है। साथ ही सोमवार को 6 संक्रमित की मौत भी हुई है। कुल मौत का आंकड़ा 336 हो गया है। लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सोमवार शाम को जिला प्रशासन ने सभी धार्मिक संस्थानों स्थान पर आम लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। साथ ही भीड़ एकत्रित करने की निर्देश जारी किए हैं। प्रदेश में लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। प्रदेश के महानगरों भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन में हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए सभी शहरों में लॉकडाउन लगाया है। भोपाल, इंदौर उज्जैन में 19 अप्रैल तक टोटल लॉकडाउन लगाया है। ग्वालियर में भी बीते 5 दिन में कोरोना ने संक्रमित की संख्या के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।

रविवार को जिले में जहां रिकॉर्ड 515 पॉजिटिव केस आए थे, वहीं सोमवार को कोरोना ने खुद का एक दिन पहले बना रिकॉर्ड तोड़ दिया। सोमवार को 576 नए संक्रमित मिले हैं। इसके साथ ही कुल संक्रमित का आंकड़ा 22455 पर पहुंच गया है। सोमवार को जिले में 6 की मौत भी हुई है। यह सभी 30 मार्च से लेकर 12 अप्रैल के बीच संक्रमित आए थे। सोमवार को संक्रमित की मौत के बाद समय पर परिजन को सूचना नहीं देने पर काफी हंगामा भी हुआ है। तीन संक्रमित के नाम के सामने एक ही मोबाइल नंबर होने से परिजन को समय पर सूचना नहीं पहुंच सकी। इसके बाद कलेक्टर ने संक्रमित के परिजन को सूचना देने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को नियुक्ति की है। सोमवार को 1741 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट आई है, इनमें से 576 नए संक्रमित निकले हैं। इसके बाद कुल आंकड़ा 22455 हो गया है। मंगलवार के लिए 2405 सैंपल लेकर भेजे गए हैं। सोमवार तक कुल एक्टिव केस बढ़कर 2939 हो गए हैं। सोमवार को आधा सैकड़ा स्थानों पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन और 3 वार्ड के 25 मोहल्ला कॉलोनियों में 19 अप्रैल तक कंटेनमेंट जोन बनाए हैं।

राहत की बात यह है कि सोमवार को 162 संक्रमित डिस्चार्ज होकर अपने-अपने घरों के लिए रवाना हुए हैं। सोमवार को जिले के लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम में 14 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है। इनमें से 12 शव कोविड संक्रमित वाले थे। सभी 12 शवों का अंतिम संस्कार पूरी कोविड गाइडलाइन के आधार पर किया गया। जिले में लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम ही है जहां कोविड संक्रमित की मौत होने के बाद प्रशासन द्वारा उनका अंतिम संस्कार किया जाता है। सोमवार को नवदुर्गा उत्सव शुरू होने जा रहा है। इसके साथ ही 14 अप्रैल को रमजान का पाक महीना शुरू होने जा रहा है। ऐसे में मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारा चर्च में भीड़ जुटने पर कोविड संक्रमण फैलने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। ऐसे में कलेक्टर ने आदेश जारी किया है जिसमें धार्मिक संस्थान में आम नागरिकों का प्रवेश प्रतिबंधित है। सिर्फ मंदिर से जुड़े लोग ही जा सकेंगे। साथ ही कोचिंग क्लासेस को भी बंद करने के निर्देश जारी किए गए हैं। अब ऑफलाइन क्लासेस नहीं चला सकेंगे।