देश संकट से गुजर रहा है इसलिए राजनीति में लौटा…

पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा TMC में हुए शामिल

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया। उन्होंने करीब तीन साल पहले भाजपा छोड़ दी थी और खुद को दलगत राजनीति से ही अलग कर लिया था। अब उनका कहना है कि देश एक अद्भुत संकट से गुजर रहा है, इसलिए उन्होंने दोबारा राजनीति में आने का फैसला किया है। उन्होंने कोलकाता में TMC भवन पहुंचकर तृणमूल का झंडा थामकर पार्टी की सदस्यता ली। 

इस मौके पर सिन्हा ने कहा, ‘आज की जो घटना है उसके बारे में आपको अश्चर्य हो रहा होगा। सोच रहे होंगे कि जब मैंने खुद को दलगत राजनीति से अलग कर फिर मैं पार्टी में शामिल होकर एक्टिव क्यों हो रहा हूं। दरअसल, इस समय देश अद्भुत परिस्थिति से गुजर रहा है। अब तक जिन मूल्यों को हम बहुत महत्व देते थे, यह सोचकर चलते थे कि इस पर प्रजातंत्र में अमल करेंगे आज उनका अनुपालन नहीं हो रहा है।’ 

सिन्हा 1960 में IAS के लिए चुने गए और पूरे भारत में उन्हें 12वां स्थान मिला। आरा और पटना में काम करने के बाद उन्हें संथाल परगना में डिप्टी कमिश्नर के तौर पर तैनात किया गया। 24 साल IAS की भूमिका निभाने के बाद वे 1984 में राजनीति में आए। 1990 में वे चंद्रशेखर की सरकार में वित्त मंत्री बने। 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार में भी वित्त मंत्री बने। 13 महीने बाद सरकार गिर गई। 1999 में फिर से वाजपेयी की वापसी हुई और सिन्हा को फिर से वित्त मंत्रालय मिला।