उन्नत कृषि का लाभ जिले को भरपूर मिल सके...

90 करोड़ की लागत से बनेगा उसैदघाट पुल : केन्द्रीय मंत्री

मुरैना। चंबल नदी के उसेथघाट पर 700 मीटर लंबे, 12 मीटर चैड़े और 90 करोड़ रूपये की लागत से पुल निर्माण का 3 वर्षो में पूर्ण होगा। यह बात केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने चंबल किनारे उसेद घाट पर संबोधित करते हुये कही। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच आवागमन का अवरोध अब समाप्त हो जाएगा, क्योंकि उसैदघाट पुल की मांग बहुत समय से चली आ रही थी। पुल के बनने से आपसी रिस्तेदारियां बनेंगी और व्यापार करना भी सुविधा जनक होगा। इस कार्य में कई कारणों से विलंब हुआ, लेकिन अब शुभ घड़ी आ गई है। 

क्योंकि काम सगुन से शुरू ना हो तो बाधाएं बहुत आती है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुये केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा है कि उसैदघाट पुल की लंबाई 700 मीटर, चैड़ाई 12 मीटर और पुल की ऊंचाई 25 मीटर रहेगी। जबकि फाउडेंशन की गहराई 49 मीटर की रहेगी। नदी में जल स्तर बढ़ने से पुल की ऊंचाई अधिक रहे। इसके लिये आवश्यक बिन्दुओं पर ध्यान रखते हुये उच्च स्तरीय निर्माण किया जायेगा। यह पुल फरवरी 2026 तक गुजरात सोना बिल्डर्स द्वारा बनाकर तैयार किया जायेगा। 

कार्यक्रम में मंत्री श्री तोमर ने अपने बचपन की स्मृतियों का जिक्र करते हुए कहा कि जब मैं अपने परिजनों के साथ पिनाहट बाजार जाता था तब से ही पिनाहट के इस चंबल घाट पर पुल की जरूरत महसूस होती थी और अब जब मैं राजनीतिक स्थिति में आया कुछ प्रयास इस दिशा में किए विभिन्न विभागों से इसकी जानकारी ली तो पता चला कि 2 प्रांतों के बीच एनओसी का मिलना बाधा उत्पन्न हो रही थी। 

नरेंद्र सिंह तोमर ने उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री राजा राजार्धमन सिंह के विशेष प्रयासों का भी जिक्र किया और कहा कि इस तरफ से हम प्रयास कर रहे थे तो उधर उत्तर प्रदेश से भदावर महाराज के प्रयास भी जी तोड़ थे। केंद्रीय कृषि मंत्री भारत सरकार नरेंद्र सिंह तोमर ने मुरैना जिले वासियों को उन्नत कृषि से जुड़ने का आवाहन करते हुए कहा कि परंपरागत कृषि की दृष्टि से यह जिला संभल और संपन्न है, लेकिन इसको और संपन्न बनाया जा सकता है। उन्नत कृषि और फूड प्रोसेसिंग का लाभ मुरैना जिले को भरपूर मिले, इसके लिए हमने जिला प्रशासन से बात की है और हमारे जिले के किसान और जिला प्रशासन मिलकर इसका भरपूर लाभ लें।