केंद्रीय कारागार में चल रही भागवत कथा के दौरान...

जब केंद्रीय कारागार में गूंजने लगा ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः

प्रकृति बनाने वाले ईश्वर ने हर चीज का ध्यान रखते हुए प्रकृति का निर्माण किया है। इसमें सुख- दुख और समय परिस्थितियों का भी बड़ा महत्व बताया है। आज हम समय परिस्थिति के उसी मुकाम से निकले हैं जो कोरोना के रूप में इस युग में आया और जो कभी किसी ने न सोचा सोचा भी नहीं था की मानव जीवन  को एक सागर के पानी की तरह ठहरा के रख दिया यह समय परिस्थितियां ही बताती हैं। कि हमें कब और कहां किस तरह के कार्य करना चाहिए अगर भगवान के पूजन में गर्मी में कंबल और सर्दी में चद्दर रखेंगे तो वह पूजन अनुकूल है। इसी तरह कोरोना काल में एक दूसरे से दूर रहकर जो हमने जीवन बिताया वह भी समय और परिस्थिति का ही फेर था ।यह बात केंद्रीय कारागार में चल रही भागवत कथा के दौरान संत गोपाल शरण जी ने व्यास गद्दी से कहीं। 

संत गोपाल शरण जी ने  व्यास गद्दी से  यह संदेश दिया  के कोरोना बीमारी को तो आप लोगों ने अभी जाना है । लेकिन यह पुरातन  परंपरा है कि एक दूसरे से दूरियां बना कर रहे और पहले जो तोलिया डाल कर चलते थे वह आज मास्क का काम कर रही हैं। लेकिन अब हम ने इस परंपरा को समय के अनुसार पुनः अपनाना प्रारंभ कर दिया है जो सभी के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है आज की भागवत कथा गोविंद गुण गाए गोपाल गुण गाए से तेरी बन जाएगी भक्ति संगीत के साथ कथा प्रारंभ की कथा में शिव विवाह का वर्णन करते हुए ध्रुव चरित्र एवं प्रहलाद भक्ति की कथा भी सुनाई गई जिसमें बताया कि ध्रुव की तपस्या से भगवान ने प्रसन्न होकर उन्हें सबसे बड़ा सिंघासन का राज दिया 

प्रहलाद की भक्ति से प्रसन्न हो स्वयं भगवान ने पत्थर से प्रकट होकर प्रहलाद की निर्मम भक्ति को अमर कर दिया आज की महा आरती  कथा के मुख्य यजमान जेल अधीक्षक मनोज कुमार साहू, रश्मि साहू ,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष अशोक सिंह, पूर्व साडा राकेश जादौन ,पूर्व साडा अध्यक्ष जय सिंह कुशवाह ,उप जेल अधीक्षक  महेश प्रसाद टिकारिया , एनके प्रजापति,  विपिन दंडोतिया , प्रवीण त्रिपाठी डॉक्टर गजेंद्र, देवेंद्र शर्मा ,नरेंद्र शर्मा, रोटरी क्लब से नरेंद्र रोहिरा जानवी रोहिरा ,विह्वल सेंगर, नीलू भदोरिया, गिर्राज कंसाना सहित हजारों भक्तगण कैदी बंधुओं ने भागवत कथा का लाभ लिया कल 19 फरवरी को कृष्ण जन्म की लीलाओं का पाठ किया जाएगा। 

जब राकेश जादौन ने कराया ओम नमो का जाप, केंद्रीय कारागार में चल रही भागवत कथा के दौरान जब पूर्व सेना अध्यक्ष राकेश जादौन द्वारा ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः का मंच से 2 मिनट तक जाग सभी कैदियों के साथ मिलकर किया तो केंद्रीय कारागार के चारों तरफ ओम नमो का मंत्र गुंजायमान होने लगा और भक्ति बिहोर भागवत कथा का आनंद कैदियों में ओम नमो भगवते वासुदेवाय के जाप से और भी मन मुग्ध हो गया मानव केंद्रीय कारागार के चारों तरफ हिमालय पर्वत की तरह ओम नमो की ध्वनि का अलौकिक जाप चल रहा हो जिसका सभी कैदियों ने मन मुक्त एक स्वर से जाप कर इस भक्ति के आनंद को हजारों गुना बना दिया।