बच्चों को स्वच्छता दूत बनाने के लिए प्रेरित करते हुए...

बच्चे बनेगें सबसे अच्छे स्वच्छता दूत: निगमायुक्त

ग्वालियर। बच्चे स्वच्छता दूत के रुप में सबसे महत्वपूर्ण कडी हो सकते हैं, इसलिए सभी बच्चों को अपने अपने आस पास स्वच्छता के लिए पापा-मम्मी, अंकल-आंटी व भैया-दीदी को जागरुक करना होगा और यदि कोई कचरा फैलाए तो उन्हें रोकना होगा। उक्ताशय के विचार नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा ने आज विवेकानंद नीडम में बच्चों को स्वच्छता दूत बनाने के लिए प्रेरित करते हुए व्यक्त किए। 

शहर की स्वच्छता के लिए बच्चों से अच्छा कोई स्वच्छता दूत नहीं हो सकता है इसी को ध्यान में रखते हुए निगमायुक्त श्री वर्मा ने आज विवेकानंद नीडम में चलने वाले निशुल्क शिक्षण केन्द्र जहां कई शिक्षक आस पास के बच्चों को निशुल्क शिक्षा प्रदान करते हैं, वहां पंहुचकर बच्चों से संवाद किया तथा उन्हें स्वच्छता के लिए प्रेरित किया और बच्चों को बताया कि स्वच्छता से क्या क्या लाभ होते हैं। इस अवसर पर बच्चों ने भी उत्साह से स्वच्छता की शपथ ली और स्वच्छता दूत के रुप में कार्य करने की बात कही।