सरकार ने हठधर्मिता नहीं छोड़ी तो...

26 जनवरी को राजपथ पर होगा किसानों का कब्जा : टिकैत

भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि सरकार ने हठधर्मिता नहीं छोड़ी तो 26 जनवरी को राजपथ पर किसान-मजदूरों का कब्जा होगा। तिरंगे को शान से लहराते हुए किसान राजपथ से ट्रैक्टरों पर सवार होकर गुजरेंगे। भलाई का नाम लेकर सरकार किसानों को बर्बाद करना चाहती है। दोघट कस्बे में भाकियू नेता राजेंद्र चौधरी के आवास पर भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि कृषि कानूनों के विरोध में देश के कोने-कोने से किसान दिल्ली के बॉर्डर पर धरना देकर बैठे हैं, लेकिन सरकार हठधर्मिता पर अड़ी हुई है। 

खुद किसान जिस कानून को नहीं चाहते हैं, उसे जबरन सरकार क्यों थोपना चाह रही है। इससे सरकार की मंशा साफ झलकती है। यदि सरकार कृषि कानून वापस नहीं लेती है तो किसान 26 जनवरी को दिल्ली में रैली निकालेंगे। इसके अलावा सरकार आंदोलन के दौरान मृत किसानों को शहीद का दर्जा दे, उनके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दे। 

इस मौके पर सुरेंद्र सिंह, राजेन्द्र चौधरी, बसंत तोमर, मनोज कुमार आदि मौजूद रहे। मौजिजाबाद नांगल गांव में किसान गल्तान सिंह की शोकसभा हुई। राजनीतिक, गैर राजनीतिक लोगों ने पहुंचकर श्रद्धांजलि दी। किसानों ने कहा कि सरकार कृषि कानून वापस ले, तभी किसान धरने से उठेंगे। इसके लिए चाहे कितनी ही कुर्बानी क्यों न देनी पड़े।