टीएल बैठक में कलेक्टर ने जिलाधिकारियों को दिये निर्देश…

कम्प्यूटर आॅपरेटर और बाबूओं के भरोसें न छोड़े CM हेल्पलाइन : श्री वर्मा

मुरैना। मुख्यमंत्री की प्राथमिकता है कि सीएम हेल्पलाइन समय पर निराकृत हों, जिससे लोंगो की समस्यायें समय पर हल हो सके। उन्हें अपनी समस्याओं के समाधान में लंबी प्रतीक्षा न करना पड़े। अधिकारी सीएम हेल्पलाइन को कम्प्यूटर आॅपरेटर एवं बाबूओं के भरोसें न छोड़े, स्वयं कम्प्यूटर पर बैठकर उनका समाधान करें। यह निर्देश कलेक्टर अनुराग वर्मा ने सोमवार को टीएल बैठक में समस्त जिलाधिकारियों को दिये। इस अवसर पर एडीएम, सभी एसडीएम, संयुक्त कलेक्टरों सहित समस्त जिलाधिकारी, नगरीय निकायों के सीएमओं एवं जनपद सीईओ उपस्थित थे। 

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि संबंधित शिकायत उसी महीने में फोर्स क्लोज नहीं कराई जायें, यह समस्त एचओडी को ध्यान देने की जरूरत है। शिकायत प्राप्त होती है तो उसका जबाव समय-सीमा में प्रस्तुत करें, ऐसी शिकायत जो विभाग से संबंधित नहीं है या विभाग में उसका समाधान नहीं। उस शिकायत को एक माह 20 दिन बाद ही उस शिकायत को फोर्सली क्लोज करावें। कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा है कि 4 जनवरी को सीएम की वीसी है, जिसमें संबंधित एजेण्डे पर अधिकारी पूर्ण तैयारी के साथ अपडेट रहें। जिस विभाग का जो बिंदु है, उसकी जानकारी भी कलेक्टर ने संज्ञान में ली। 

उन्होंने मध्यप्रदेश में मनरेगा के क्रियान्वयन, प्रदेश में रोजगार मूलक योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति, प्रधानमंत्री शहरी पथ-विक्रेता स्वनिधि योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ-विक्रेता योजना का क्रियान्वयन, नगरीय क्षेत्रों में स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 की तैयारियों, मध्यप्रदेश में गौ-शालाओं के संचालन एवं प्रबंधन, प्रदेश में खनिज के अवैध उत्खनन की रोकथाम, स्व-सहायता समूहों के आर्थिक सशक्तिकरण के लिये बैंक लिंकेज, मार्केट लिंकेज एवं उनके माध्यम से किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की। कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा है कि मतदाता सूची में नाम जोड़ने हेतु आयोग से प्राप्त नवीन एवं छूटे हुये मतदाताओं की संख्या में 35 हजार 786 है, जिसमें मतदाता सूची में नाम जोड़ने हेतु ईआरओ नेट में फीड किये गये फाॅर्म की संख्या 23 हजार 878, मतदाता सूची में नाम जोड़ने हेतु नवीन एवं छूटे हुये मतदाताओं की फीडिंग हेतु शेष फाॅर्म 6 की संख्या 11 हजार 908 है। 

जिसका पूर्णतः प्रतिशत मात्र 66.72 हैै। यह स्थिति ठीक नहीं है। सबलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 1903, जौरा में 1454, सुमावली में 2292, मुरैना में 1552, दिमनी में 2863 और अम्बाह विधानसभा क्षेत्र में 1844 नाम जोड़े गये है। कलेक्टर ने बताया है कि प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर योजना में शासन द्वारा 10 हजार 959 का लक्ष्य प्राप्त था, जिसमें आॅनलाइन पंजीयन संख्या 11 हजार 546, अपात्र प्रकरणों की संख्या 2 हजार 786, सत्यापित सर्टिफिकेट की संख्या 8 हजार 757, एसआरएन जनरेट की संख्या 7 हजार 402, बैंकों को प्रेषित प्रकरण 7 हजार 624, 28 दिसम्बर तक बैंको द्वारा स्वीकृत प्रकरण 3 हजार 45 तथा बैंको द्वारा वितरण 2 हजार 806 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है। जिसका 25.6 प्रतिशत है।