240 करोड़ रुपए की लागत से होगा आधुनिकीकरण…

एयरपोर्ट स्टाइल में विकसित होगा ग्वालियर का रेलवे स्टेशन : श्री सिंह

ग्वालियर। ग्वालियर रेलवे स्टेशन का सौंदर्यीकरण एवं आधुनिकीकरण 23 हेक्टेयर जमीन पर एयरपोर्ट स्टाइल में 240 करोड़ रुपए की लागत से किया जाएगा। रेलवे स्टेशन के विकास एवं जीर्णोद्धार हेतु व्याइंट सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड गुड़गांव के प्रतिनिधियों द्वारा आज शुक्रवार को प्रेजेंटेशन दिया गया। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में बाल भवन के ऑडिटोरियम में आयोजित प्रेजेंटेशन में नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, सीईओ स्मार्ट सिटी जयति सिंह, एडीएम किशोर कान्याल सहित जीडीए के सीईओ एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।  रेलवे स्टेशन के विकास हेतु प्रेजेंटेशन व्याइंट सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड गुड़गांव के आर्किटेक्ट विक्रम भारद्वाज द्वारा दिया गया। 

साथ ही ऑनलाइन प्रेजेंटेशन में प्रोमिला राय जेजीएम आईआरएसडीसी दिल्ली एवं व्ही बी सूद सीएएम आईआरएसडीसी दिल्ली द्वारा प्रस्तुत किया गया। कंपनी के प्रतिनिधि श्री भारद्वाज द्वारा प्रेजेंटेशन के दौरान बताया गया कि ग्वालियर रेलवे स्टेशन का विकास 23 हेक्टेयर जमीन पर एयरपोर्ट स्टाइल में किया जाएगा। जिसमें संपूर्ण स्टेशन परिसर को कवर्ड किया जाएगा तथा रेलवे स्टेशन की हेरिटेज इमारत को इसी प्रकार सहेज कर उसके आसपास अत्याधुनिक सौंदर्यीकरण किया जाएगा। श्री भारद्वाज ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों के लिए अलग से लाउंज बनाया जाएगा। जिसमें फूड कोर्ट एवं अन्य आवश्यक सुविधाएं होंगी। इसके साथ ही यात्रियों के विश्राम के लिए अत्याधुनिक व्यवस्था व सुविधा रहेगी। 

वहीं रेलवे स्टेशन परिसर में अत्याधुनिक पार्किंग व्यवस्था के साथ ही रेलवे स्टेशन के सामने वर्तमान में स्थित शॉपिंग कंपलेक्स को हटाकर उसके स्थान पर रेलवे द्वारा बनाया जा रहा शॉपिंग कंपलेक्स रहेगा, जिसमें वर्तमान में जो दुकानदार हैं, उन्हें प्राथमिकता के आधार पर नए शॉपिंग कांपलेक्स में दुकानों का आवंटन नियमानुसार दर पर किया जावेगा। आईआरएसडीसी दिल्ली के प्रतिनिधियों द्वारा बताया गया कि उक्त कार्य की आर एफ क्यू 21 दिसंबर 2019 को जारी की गई थी। जिसमें राष्ट्रीय स्तर की 7 फर्मों को शॉर्टलिस्ट किया गया है। उन्होंने बताया कि कार्य की ड्राइंग रेलवे विभाग द्वारा 4 फरवरी 2020 को एप्रूव्ड कर दी गई है तथा इंडियन एयर फोर्स एवं डीआरडीओ से भी अप्रूवल आ गया है। 

उक्त कार्य की आर एफ पी 31 दिसंबर 2020 को जारी की जाएगी। स्टेशन परिसर एवं स्टेशन के सौंदर्यीकरण की कुल लागत 240 करोड़ रुपए होगी। बैठक में आईआरएसडीसी द्वारा विभिन्न बिंदुओं पर भी चर्चा की गई। जिसमें अत्याधुनिक रेलवे स्टेशन में 1063 केएलडी पानी की आवश्यकता होगी, जो कि नगर निगम ग्वालियर द्वारा निर्धारित शुल्क के साथ उपलब्ध कराने की सहमति दी गई है। इसके साथ ही स्टेशन परिसर में 10838 केवीए विद्युत की आवश्यकता हेतु विद्युत विभाग द्वारा विद्युत उप केंद्र की स्थापना लगभग 25 स्क्वायर मीटर जगह में की जाएगी, जो कि निर्धारित शुल्क के साथ उक्त कार्य विद्युत विभाग द्वारा किया जाएगा। 

वहीं स्टेशन परिसर में सुगम यातायात के लिए दो वाहन लाइनों का निर्माण किया जाना है। इस हेतु पीडब्ल्यूडी से सर्वे एवं स्टीमेट बनवाया जाएगा तथा सीवर के ट्रीटेड वॉटर का उपयोग उक्त कार्य में किया जाना प्रस्तावित है। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने रेलवे स्टेशन के जीर्णोद्धार कार्य के लिए स्थानीय स्तर पर एक समेटी का गठन करने की बात कही। इस कमेटी में नगरनिगम आयुक्त, एडीएम के साथ ही निर्माण विभाग के अधिकारी रहेंगे। इसके साथ ही रेलवे स्टेशन के सामने की रोड पर स्थापित दुकानों के व्यवस्थापन हेतु व्यापारियों से चर्चा करने हेतु भी नगर निगम आयुक्त को अधिकृत किया गया है। 

उन्होंने रेलवे स्टेशन के आधुनिकीकरण के साथ साथ अन्य विकास कार्यों के लिए भी हाउसिंग बोर्ड, लोक निर्माण विभाग एवं नगरनिगम को निश्चित कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। ग्वालियर में स्टेट काल के समय से चल रही छोटी ट्रेन लाइन के संचालन के संबंध में रेलवे मंत्रालय की ओर से पत्र भेजा गया है जिसमें नैरोगेज ट्रेन का संचालन पर्यटन एवं शहर की यातायात व्यवस्था की दृष्टि से उपयोग करने की सहमति प्रदान की गई है। नेरोगेज ट्रेन के संचालन एवं पर्यटन की दृष्टि से उपयोग करने हेतु स्मार्ट सिटी ग्वालियर के माध्यम से प्लानिंग करने को भी कहा गया।