ग्वालियर में कोरोना का खौफ...

ब्रिटेन से लौटे सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने 35 लोगों को किया संक्रमित

ग्वालियर। मध्यप्रदेश के ग्वालियर में कोरोना का खौफ लगातार बढ़ता जा रहा है। वहीं, ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन सामने आने के बाद दहशत काफी ज्यादा बढ़ गई है। दरअसल,ग्वालियर का एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर कुछ समय पहले ही ब्रिटेन से लौटा था, जो अब कोरोना संक्रमित पाया गया। बताया जा रहा है कि उसके संपर्क में आने से 35 और लोग भी संक्रमित हो गए हैं, जिसके बाद ग्वालियर के विनय नगर के लोगों में बेचैनी बढ़ गई है। जानकारी के मुताबिक, ग्वालियर के विनय नगर सेक्टर-4 में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर रहते हैं। 

वह कुछ दिन पहले ही ब्रिटेन से लौटे हैं। इसके बाद उनके पिता कोरोना संक्रमित हो गए, जिसके बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर की जांच की गई तो वह भी कोरोना पॉजिटिव निकले। वहीं, सॉफ्टवेयर इंजीनियर के संपर्क में आने से महाराज बाड़ा स्थित हौजरी दुकान के सेल्समैन समेत 35 लोग को कोरोना होने की पुष्टि हुई है। वहीं, सॉफ्टवेयर इंजीनियर और उनके पिता को मुरार के सी-ब्लॉक में भर्ती किया गया है। गौरतलब है कि कोरोना के नए स्ट्रेन के चलते इस वक्त यूके से लौटने वाले लोगों पर खासी नजर रखी जा रही है। ऐसे में सॉफ्टवेयर इंजीनियर का सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजा गया है। दिल्ली से रिपोर्ट मिलने के बाद ही पता लगेगा कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर नए स्ट्रेन से संक्रमित है या नहीं। 

बता दें कि विजय नगर में एक साथ 35 लोगों के कोरोना संक्रमित होने की खबर से आसपास रहने वालों में हड़कंप मच गया है। सूत्रों का कहना है कि ब्रिटेन से कुछ और लोग ग्वालियर आए हैं, जिनके नाम जल्द पता लगने की उम्मीद है। इसके बाद उनके सैंपल भी दिल्ली भेजे जाएंगे। उधर, कोरोना संक्रमण के चलते बिरला नगर निवासी सुभाष चंद्र शर्मा (58) और झांसी के रामगढ़ में रहने वाले कैलाश अग्रवाल (60) की मौत हो गई। ग्वालियर में अब तक कोरोना संक्रमण से 288 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, कुल संक्रमितों की संख्या 17 हजार 229 पहुंच गई है।