मुख्यमंत्री एवं सिंधिया ट्रांजिट विजिट पर आए ग्वालियर…

ग्वालियर को सुशासन का मॉडल बनाएँ : CM शिवराज

ग्वालियर। ग्वालियर को सुशासन का मॉडल बनाएँ। ऐतिहासिक नगरी ग्वालियर का सुनियोजित विकास प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में है। शहर के विकास के लिये प्रदेश सरकार पूरी तरह कटिबद्ध है। इसलिये विजन डॉक्यूमेंट की तर्ज पर ग्वालियर शहर के विकास के लिये एक विस्तृत कार्ययोजना तैयार करें। इस आशय के निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संभाग आयुक्त एवं ग्वालियर कलेक्टर को दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ अल्प प्रवास पर (ट्रांजिट विजिट) ग्वालियर आए थे। इस दौरान उन्होंने विमानतल पर ग्वालियर शहर के विकास को लेकर वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों से चर्चा की। 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि ग्वालियर शहर के विकास की कार्ययोजना में आर्थिक गतिविधियाँ, विकास योजनायें, पर्यटन व शिक्षा सहित ऐसे सभी विषय शामिल करें, जो ग्वालियर शहर को एक विकसित एवं सुंदर शहर बनाने के लिये जरूरी हों। उन्होंने इस आशय का प्रजेण्टेशन जल्द से जल्द तैयार करने के निर्देश भी दिए। राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस अवसर पर कलेक्टर से कहा कि ग्वालियर शहर का विजन डॉक्यूमेंट तैयार करते समय देश के विकसित शहरों की योजनाओं एवं सुनियोजित विकास के लिये वहाँ किए गए अच्छे कार्यों को भी ध्यान में रखें। संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने ग्वालियर शहर के विकास के संबंध में विशेषज्ञों एवं शहर के नागरिकों से सुझाव लेने के लिये एक टेलीफोन नम्बर जारी करने के लिये कलेक्टर से कहा है। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान से चर्चा के दौरान कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जानकारी दी कि ग्वालियर शहर के सुनियोजित विकास की कार्ययोजना पर काम शुरू कर दिया गया है। शहर की प्रस्तावित विकास योजनायें, पर्यटन एवं आर्थिक विकास इत्यादि विषयों को ध्यान में रखकर कार्ययोजना तैयार की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं राज्य सभा सांसद श्री सिंधिया सोमवार को अपरान्ह लगभग 4.15 बजे विमान से ट्रांजिट विजिट पर यहाँ राजमाता विजयाराजे सिंधिया विमानतल महाराजपुरा पर पहुँचे। यहाँ से हैलीकॉप्टर द्वारा ओरछा के लिये रवाना हुए। ओरछा में स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेने के बाद ग्वालियर विमानतल पर वापस आकर मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं श्री सिंधिया ने विमान द्वारा सायंकाल लगभग 6.15 बजे नईदिल्ली के लिये प्रस्थान किया।