जिला पंचायत सीईओ ने दिए निर्देश…

निर्माण पूर्ण हो चुके परिसर में जल्द शुरू कराएँ गौशालाएँ : श्री वर्मा


ग्वालियर। जिन गौशालाओं का निर्माण पूरा हो चुका है उनमें एक हफ्ते के भीतर गौशालायें शुरू कराएँ। गौशालाओं के संचालन के लिये समिति भी गठित की जाएँ। गौशाला संचालन की जिम्मेदारी स्व-सहायता समूहों के माध्यम से कराया जाए। इसके लिये समूहों से विधिवत अनुबंध की कार्रवाई एक हफ्ते में पूरी कर लें। 

इस आशय के निर्देश जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवम वर्मा ने जिले की सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों तथा गौशाला निर्माण से जुड़े विभागों के अधिकारियों को दिए। ज्ञात हो बेसहारा गौवंश की उचित देखभाल के लिए जिले की हर जनपद पंचायत के अंतर्गत गौशालाओं का निर्माण किया गया है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवम वर्मा ने निर्देश दिए कि गौशालायें आय का जरिया बनें, इसके लिये गोबर से वर्मी कम्पोस्ट, दिये, गमले व गौ काष्ठ का निर्माण शुरू कराएँ। 


गौशाला संचालन के संबंध में स्व-सहायता समूहों की दीदीयों को आवश्यक प्रशिक्षण भी दिलाया जाए। उन्होंने ग्राम पंचायत सरपंच व सचिवों के माध्यम से गौशाला के समीप चारागाह विकसित कराने के निर्देश भी दिए। गौशालाओं में विद्युतीकरण, रंगाई-पुताई तथा अन्य शेष काम जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश भी जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने दिए।

उन्होंने गौशाला के आस-पास फलदार वृक्षारोपण कराने पर भी बल दिया। साथ ही कहा कि वृक्षारोपण के रख-रखाव की पुख्ता व्यवस्था हो जिससे लगाए गए पौधे पेड़ बन सकें। बैठक में उप संचालक कृषि, पशु चिकित्सा सेवाएँ, जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी, जनपद पंचायतों के सीईओ, सहायक यंत्री व अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।