विपक्ष का मिल रहा पूरा समर्थन

कृषि बिलों के खिलाफ आज किसानों का भारत बंद

दिल्ली। लोकसभा और राज्यसभा में पारित किए गए कृषि बिल के विरोध में देश भर में आज किसान संगठन ने भारत बंद बुलाया है. बिल के खिलाफ किसान संगठन बेहद गुस्से में दिख रहें है. किसान बिल के खिलाफ दिल्ली में किसानों का आज विरोध प्रदर्शन होगा. जिसमें कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का समर्थन किसानों को पूरी तरह मिलेगा. दिन के 12 बजे के करीब कांग्रेस जंतर मंतर पर किसान बिलों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी. इससे पहले गुरुवार को यूथ कांग्रेस ने दिल्ली में मशाल जुलूस निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया था. आपको बता दें, भारत बंद में पंजाब और हरियाणा के किसान अधिक संख्या में विरोध प्रदर्शन में शामिल हो सकते है. वहीं देश भर के 31 किसान संगठनों ने भारत बंद का समर्थन किया है और कृषि बिल के खिलाफ आवाज़ मजबूत की है. कृषि बिल के खिलाफ भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) ने पहले ही साफ कर दिया कि वो पूरी तरह से भारत बंद के समर्थन में रहेंगे. बीकेयू के महासचिव सुखदेव सिंह ने पंजाब में सभी व्यापारियों से अपील की है कि वो इस भारत बंद का समर्थन करें और किसानों के हित में खड़े हो. 

वहीं, पंजाब में किसानों का लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है. किसानों ने गुरुवार से तीन दिन का रेल यातायात ठप करने का एलान किया है. भारी तादाद में विरोध जताते हुए किसान रेल लाइनों पर बैठ किसान बिल के खिलाफ कड़ा रुख दिखाया. उन्होंने कहा कि सरकार अगर उनकी बात नहीं सुनती तो वो सभी 1 अक्टूबर से अनिश्चितकाल के लिए रेल यातायात ठप करेंगे. पंजाब की तरह हरियाणा में भी किसान बेहद गुस्से में दिख रहें है. हरियाणा भारतीय किसान यूनियन के प्रमुख गुरनाम सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि इस बिल के खिलाफ कई संगठन एक जुट होकर भारत बंद का समर्थन कर रहें है. उन्होंने कहा कि किसानों से अपील की गई है कि वो शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन करें. किसी भी तरीके का हिंसक काम करने की इजाजत किसी को नहीं दी गई है, और ना ही बर्दाश्त किया जाएगा. वहीं मामले को देखते हुए हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने प्रदेश के आला अधिकारियो के साथ बैठक कर चर्चा की. उन्होंने डीजीपी को निर्देश दिए कि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुलिस बल तैयार रहें.

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने विरोध प्रदर्शन में भाग ले रहें सभी लोगों से अपील की कोरोना को ध्यान में रख दूरी बानायी जाए साथ ही कानून व्यवस्था का भी पूरी ख्याल रखा जाए. कृषि बिल के खिलाफ किसानों का भारत बंद का समर्थन विपक्ष पूरी तरह करते हुए दिख रहा है. कांग्रेस पार्टी ने साफ कहा कि उनके लाखों कार्यकर्ता किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल होंगे. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार किसानों के खेत पर लात मार रही है, जो किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस पूरी तरह किसानों के हित में खड़ी है और भारत बंद का समर्थन कर रही है. उन्होनें कहा कि देश के हर राज्य में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा. समाजवादी पार्टी का भी समर्थन भारत बंद में किसानों को मिलते दिख रहा है. सपा ने कहा है कि उनके कार्यकर्ता प्रदेश भर में किसानों के समर्थन में उतरेंगे. समाजवादी पार्टी समेत राष्ट्रीय जनता दल ने समर्थन का एलान किया है. आरजेडी ने कहा कि कृषि बिल के खिलाफ 25 सितंबर सुबह 9 बजे तेजस्वी यादव किसानों के  विरोध प्रदर्शन में शामिल होते हुए पार्टी कार्यालय जाएंगे.वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी पूरी तरह किसानों के समर्थन में उतरने की बात कर चुकी है.