बंदूक की नोक पर हो रहा खनन…
प्रदेश में नहीं थम रहा रेत माफियाओं का गोरख धंधा

भोपाल। मध्य प्रदेश में रेत खनन को लेकर पक्ष-विपक्ष के बीच तानाशाही जारी है. बावजूद इसके रायसेन में बंदूक की नोक पर धड़ल्ले से रेत का अवैध खनन हो रहा है. रेत खनन पर रोक लगाने के बाद भी नर्मदा नदी में रेत खनन का काला कारोबार जारी है. इसी बीच रायसेन के बरेली क्षेत्र से रेत माफियाओं की गुंडागर्दी की खबर सामने आई है. बताया जा रहा है कि अलीगंज में कुछ ग्रामीणों ने रेत से भरे कई डंपरो का रास्ता रोका. जिसके बाद रेत ठेकेदार और ग्रामीणों बीच विवाद शुरू हो गया. 

दोनों पक्षों में जमकर तनातनी हुई. मामला यही नहीं रुका बल्कि रेत ठेकेदार के लोगों ने ग्रामीणों पर बंदूक तान दी. सूचना मिलने पर पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. आपको बता दें कि इस वक्त रेत खनन का मुद्दा मध्य प्रदेश में गरमाया हुआ है. कांग्रेस लगातार रेत खनन को लेकर शिवराज सरकार पर हमला बोल रही है. 21 जुलाई को RSS के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत अनौपचारिक बैठक में शामिल होने के लिए राजधानी भोपाल पहुंचे थे. 

जिससे पहले ही दिग्विजय ने ट्वीट कर राज्य सरकार पर अवैध रेत खनन को लेकर निधाना साधा था. दिग्विजय ने ट्वीट में लिखा था, ''संघ के सर संघचालक मोहन भागवतजी का भोपाल शहर में हार्दिक स्वागत. कृपया, बीजेपी के सीएम और मंत्रियों के आचरण और भ्रष्टाचार के विषय पर अपने स्वयंसेवकों से गुप्त रिपोर्ट अवश्य लें.'' इसके अलावा उन्होंने सरसंघसंचालक से शिवराज सिंह के परिजनों के अवैध रेत खनन में शामिल होने की भी जानकारी लेने का आग्रह किया.