जिला योजना समिति द्वारा स्वीकृत कार्यों की समीक्षा बैठक मे दिए निर्देश…
समय पर निर्माण कार्य न करने पर निर्माण एजेन्सी के अधिकारियों को मिलेगा नोटिस : श्री सिंह

ग्वालियर। जिला योजना समिति के माध्यम से स्वीकृत कार्य समय सीमा में पूर्ण न करने वाली निर्माण एजेन्सियों के अधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाए। सांसद एवं विधायक निधि से स्वीकृत किए गए निर्माण कार्यों को समय-सीमा में पूर्ण करना एवं पूर्णता प्रमाण-पत्र प्रस्तुत न करने वाले अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला योजना समिति के द्वारा स्वीकृत निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए हैं। 

जिला योजना समिति के कार्यों के साथ-साथ जल संसाधन विभाग, विद्युत विभाग के कार्यों की भी विस्तार से समीक्षा की गई। बैठक में अपर कलेक्टर अनूप कुमार सिंह, एडीएम टी एन सिंह सहित जल संसाधन विभाग, विद्युत मंडल और जिला योजना समिति के अधिकारी उपस्थित थे। 

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिला योजना समिति के द्वारा स्वीकृत निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक में कहा कि स्वीकृत कार्य समय-सीमा में पूर्ण न करना आपत्तिजनक है। वर्ष 2019-20 से पूर्व के ऐसे सभी निर्माण कार्य जो पूर्ण नहीं हुए हैं, ऐसे कार्यों की निर्माण एजेन्सी के अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया जाए। उन्होंने जिला योजना समिति के अधिकारी को निर्देशित किया कि संबंधित अधिकारियों की सूची प्रस्तुत करें। उन्होंने अपने रीडर को भी निर्देशित किया कि ऐसे सभी अधिकारियों के विरूद्ध कलेक्टर न्यायालय के माध्यम से नोटिस जारी किया जाए। 

कलेक्टर श्री सिंह ने जल संसाधन विभाग की समीक्षा में ग्वालियर जिले में सिंचाई एवं पेयजल के लिये निर्मित बांधों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि बरसात से पूर्व सभी बांधों में जो भी आवश्यक मेंटेनेंस का कार्य हो वह कर लिया जाए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा कि जल संसाधन विभाग के जो कार्य चल रहे हैं उसका प्रगति प्रतिवेदन भी प्रस्तुत करें। तिघरा डैम में लीकेज सुधार के लिये विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों के संबंध मंम भी जानकारी प्राप्त की। 

विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने विद्युत विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि बरसात से पूर्व विद्युत लाइनों एवं सब स्टेशनों के मेंटेनेंस का कार्य पूर्ण कर लिया जाए। ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र में निर्धारित अवधि में लोगो को विद्युत आपूर्ति हो यह भी सुनिश्चित किया जाए।