41 दिन बाद खुली दुकाने तो…

पहले दिन बिकी 45 करोड़, 1 अकेले शख्स ने खरीदी 52,841 रुपए की शराब


भारत में कोरोना से बचाव खातिर सोमवार से अगले 14 दिनो तक Lockdown 3.0 शुरू हो गया है। तीसरे चरण के लॉकडाउन (Lockdown) के पहले दिन यानी सोमवार को देश के अधिकतर राज्यों में शराब की दुकानें (Liquor Shopes) खोल दी गईं और बिक्री की अनुमति दे गई। lockdown की वजह से विगत 41 दिन से पूरा देश घरो में रहने को मजबूर था। लॉकडाउन 3.0 के पहले दिन देश के कई राज्यों ने कई प्रतिबंधों में ढील दी। इसका व्यापक असर देखने को मिला शराब की दुकानों को लेकर। पूरे दिन देश के कई  राज्यों से शराब की दुकानों के आगे लगी हुई कतारों के फोटो-वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई।

शराब की दुकान (liquor shops) खुलने से पहले ही लंबी लाइन लग गई है। 9 बजे से खुलने वाली दुकान के बाहर लोग सुबह सात बजे से ही लंबी लाइन में खड़े होकर इंतजार करने लगे। कुछ दुकानों पर सुबह होते-होते लाइन एक किलोमीटर तक पहुंच गई है। तो कई जगह शराब की दुकानों के बाहर सुबह से ही लंबी लाइनें देखी गई।

लेकिन अकेले कर्नाटक (Karnataka) राज्य को इसका सबसे ज्यादा फायदा हुआ है। कर्नाटक आबकारी विभाग (Karnataka Excise Department) की तरफ से बताया गया है कि इस एक दिन यानि सोमवार को राज्य में 45 करोड़ रुपए की शराब की बिक्री हुई है।आबकारी विभाग के अनुसार, सुबह 9 बजे से शाम 7 बजे तक 3.9 लाख लीटर बीयर (Bear) और 8.5 लाख लीटर इंडियन मेड लिकर (IML) की बिक्री से 45 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ है।।राज्य के आबकारी मंत्री एच नागेश (H Nagesh) ने बताया कि हमें 25 करोड़ रुपए की बिक्री की उम्मीद थी, लेकिन यह उससे भी अधिक है। जिसमें की 40% अकेले बेंगलुरु से है।

इसके साथ ही नागेश ने कहा कि लोगों को खरीदारी करने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए क्योंकि राज्य के पास पर्याप्त स्टॉक है। दस दिनों के स्टॉक में IML के 26.5 लाख बॉक्स और बीयर के 16.5 लाख बॉक्स हैं। मंगलवार से राज्य के बजट के अनुसार शराब की कीमतें बढ़ेंगी और अतिरिक्त 6% उत्पाद शुल्क लगाया जाएगा,जो इस वित्त वर्ष (Fiscal Year 2020) से लागू होगा।

मंत्री ने आगे कहा कि हालांकि आबकारी विभाग ने प्रति व्यक्ति 2.3 लीटर की सीमा तय की थी, लेकिन कुछ लोगों ने उससे भी अधिक खरीदी है।।उन्होंने कहा, “मुझे यह जानकर आश्चर्य हुआ कि अदुगोड़ी में अकेले एक व्यक्ति ने 52,841 रुपए की शराब खरीदी है।”

इतनी ही नहीं कुछ लोगों ने तो शराब खरीदने के तुरंत बाद इतनी पी ली कि वे सड़कों पर ही गिर गए।दावानगेरे में एक बूढ़ा व्यक्ति शराब पीने के बाद इतना खुश हुआ कि बिक्री की अनुमति के लिए उसने हर अधिकारी, नागरिक और राजनेता को धन्यवाद तक दिया। तो कुछ जगहों पर तो लोग नारियल तोड़ते और पूजा करते शराब दुकान के सामने स्पॉट किये गए।

एक्साइज कमिश्नर यशवंतनाथ वी ने बताया ने कि आम तौर पर किसी भी दिन लगभग एक लाख लीटर कि ही बिक्री होती है। लोगों को खरीदारी करने के लिए जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए, स्टोर खुले रहेंगे और शराब उपलब्ध होगी। गोदाम में पर्याप्त है और डिस्टिलरीज भी अब काम कर रही हैं।सभी शराब दुकानों और पुलिस अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं कि कोई अप्रिय घटना न हो।

वर्त्तमान समय में पुरुष के कन्धे से कंधा मिलाकर हर फील्ड में अपनी जबरदस्त उपस्थिति दर्ज़ कराने वाली आधी आबादी ने Lockdown के बाद खुली शराब की दुकानों पर महिलाओ की भी उपस्थिति भी जोरदार दिखी। महिलाए भी अच्छी खासी संख्या में शराब दुकानों के खुलने का इंतजार करते लंबी कतार में खड़ी दिखी।