तृणमूल कांग्रेस ने जताई आपत्ति...

कोरोना वायरस के मुद्दे पर 8 अप्रैल को विपक्ष से बात करेंगे प्रधानमंत्री


नई दिल्ली l कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचाई हुई है. इस वायरस का प्रभाव लगातार बढ़ता जा रहा है. एएफपी के मुताबिक दुनियाभर में इस वायरस की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 59,456 हो गई है. भारत में भी कोरोना तेजी से अपने पांव पसार रहा है. ऐसे में पीएम मोदी इस समस्या पर 8 अप्रैल को सुबह 11 बजे विपक्ष से बात करेंगे.

ये बातचीत दोनों सदनों के नेताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी. संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने बताया कि प्रधानमंत्री आठ अप्रैल को सुबह 11 बजे सदन में उन विभिन्न पार्टियों के नेताओं से बातचीत करेंगे जिनके लोकसभा और राज्यसभा में पांच या इससे अधिक सदस्य हैं.

माना जा रहा है कि बैठक के दौरान राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन सहित कोरोना वायरस के संकट पर चर्चा होगी. लॉकडाउन के बाद विपक्षी नेताओं के साथ प्रधानमंत्री का यह पहला संवाद है. वह गैर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) शासित राज्यों सहित सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से संवाद कर चुके हैं.

तृणमूल कांग्रेस, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विभिन्न दलों के नेताओं के साथ आठ अप्रैल को होने वाले संवाद में शामिल नहीं होगी. पार्टी सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी. तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि कई दिनों से पार्टी कोरोना वायरस के संक्रमण पर संसद में चर्चा की मांग कर रही थी लेकिन यह कभी नहीं हुआ.

ममता बनर्जी नीत पार्टी के वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस बैठक में शामिल नहीं होगी.  हम मार्च महीने से ही कोरोना वायरस संक्रमण के मुद्दे पर संसद और सर्वदलीय बैठक में चर्चा की मांग कर रहे थे लेकिन वह कभी नहीं हुआ. अब क्यों (बैठक)? सिर्फ फोटो खिंचवाने के लिए? ’’