गली व मोहल्लों को संक्रमण से मुक्त करने के लिए...

भय मुक्त कोरोना की जंग, कर्मवीरों के संग


ग्वालियर। कोरोना वायरस के वैश्विक संकट के बीच जहां चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिस प्रशासन, आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के साथ ही सफाई कर्मचारी अपनी महती भूमिका निभा रहे हैं । वहीं इन्हीं के बीच शहर में जगह-जगह पड़े कचरे को उठवा कर लैंडफिल साइट तक पहुंचाने का सबसे अधिक महत्वपूर्ण कार्य करने वाले कर्मवीरों के योगदान को भी भुलाया नहीं जा सकता है।

ऐसे ही एक कर्मवीर हैं ढोली बुआ पुल के वर्कशॉप पर पदस्थ वाहन चालक अनिल राजपूत, इनका कार्य तो केवल वाहन चलाना है लेकिन इस वैश्विक संकट के बीच श्री राजपूत और इनके साथ ही इनके जैसे ही अनेक वाहन चालक ऐसे भी हैं, जो कचरा जैसे संक्रमण के वाहक को उठवा कर गलियों व मोहल्लों को संक्रमण के भय से मुक्ति दिलाते हैं और कचरा लैंडफिल साइट तक पहुंचाने का महत्वपूर्ण कार्य पूर्ण निष्ठा व ईमानदारी के साथ निभा रहे हैं।

इनके योगदान के बिना सफाई के कार्य को पूर्ण नहीं माना जा सकता है, क्योंकि कर्मवीर सफाई संरक्षक तो अपना कार्य ईमानदारी से करते हैं और वह प्रतिदिन सड़कों व गलियों की सफाई कर कचरे को एक स्थान पर एकत्रित कर देते हैं, लेकिन यदि यह कचरा समय पर नहीं उठें , तो यह क्षेत्र वासियों के लिए संक्रमण व दुर्गंध का कारण बनते हैं। तब यही हमारे कर्मवीर वाहन चालक कचरे को उठवा कर अपने वाहनों में भरकर लैंडफिल साइट तक पहुंचाने की महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। जहां पर कचरे को वैज्ञानिक तरीके से डिस्पोजल किया जाता है।

श्री राजपूत बताते हैं कि वह प्रतिदिन सुबह 6:00 बजे अपने घर से निकलते हैं और देर शाम तक ही घर पहुंच पाते हैं तथा घर पर बच्चों व परिजनों से पूर्ण सैनिटाइज्ड एवं नहाने धोने के बाद भी एक निश्चित दूरी बनाकर ही मिलते हैं और देश व समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी इमानदारी से कर रहे हैं।