राष्ट्र के नाम संबोधन में बोले मोदी...

PM मोदी ने 3 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन


नई दिल्‍ली l पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना के मुद्दे पर देश को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों ने डटकर कोरोना का मुकाबला किया है. लॉकडाउन के बीच लोग नियमों का बंधकर पालन कर रहे हैं. उन्‍होंने बाबा साहेब आंबेडकर की जयंती के मौके पर कहा कि मैं सब की तरफ से बाबा साहेब को नमन करता हूं. उन्‍होंने कहा कि अन्‍य देशों की तुलना में भारत ने गहनता से प्रयास किए. नतीजतन भारत की स्थिति बाकी देशों की तुलना में काफी बेहतर है.

पीएम मोदी ने बाकी देशों का हवाला देते हुए कहा क‍ि एक महीने पहले की स्थिति का यदि आकलन करें तो इस दौरान कई देशों में कोरोना के कोरोना के 25 गुना मामले बढ़े, लेकिन भारत ने स्थिति को संभाला. इसके साथ ही पीएम मोदी ने ऐलान करते हुए कहा कि राज्‍यों के सुझाव के मद्देनजर तीन मई तक भारत में लॉकडाउन बढ़ाया जा रहा है.

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि 20 अप्रैल के बाद स्थिति का आकलन करने के बाद किसी क्षेत्र में यदि हालात संभलते हुए दिखते हैं तो वहां सशर्त कुछ छूट दी जा सकती है. कहने का आशय ये है कि जो इलाके कोरोना हॉट स्‍पॉट के दायरे में नहीं आते, वहां कुछ छूट दी जा सकती है. लेकिन 20 अप्रैल यानी अगले एक हफ्ते तक पूरे देश के हर थाने, क्षेत्र, इलाके में लॉकडाउन को सख्‍ती से लागू किया जाएगा.

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि मंगलवार को खत्म होने जा रही है और प्रधानमंत्री इसके संभावित विस्तार को लेकर बात कर सकते हैं. इससे पहले पिछले महीने प्रधानमंत्री ने 19 मार्च और 24 मार्च को राष्ट्र को संबोधित किया था. उन्होंने 19 मार्च को कोरोना वायरस से निपटने के लिए संकल्प और संयम का आह्वान किया था और साथ ही रविवार 22 मार्च को एक दिन के 'जनता कर्फ्यू' की भी घोषणा की थी.

प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए 24 मार्च को 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी. वहीं, तीन अप्रैल को मोदी ने एक वीडियो संदेश जारी कर लोगों से पांच अप्रैल को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए घरों की सभी लाइटें बंद करके दीया, मोमबत्ती अथवा मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर कोरोना वायरस को हराने के लिए देश की एकजुटता को प्रदर्शित करने की अपील की थी.