नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु...

इंसीडेंट कमाण्डर्स अपने दायित्वों का निष्ठापूर्वक करें निर्वहन : कलेक्टर 


ग्वालियर। नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये ग्वालियर जिले में पदस्थ सभी अधिकारियों-कर्मचारियों ने सराहनीय कार्य किया है। इसके लिये सभी को बधाई। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सोमवार को मोतीमहल स्थित कंट्रोल कमाण्ड सेंटर में इंसीडेंट कमाण्डर एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों की बैठक में यह बात कही। उन्होंने कहा कि आने वाला समय हम सबके लिये एक चुनौती है। इसका हम सब मिलकर मुकाबला करेंगे और अपने जिले को कोरोना से मुक्ति दिलायेंगे।

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि जिले में नियुक्त सभी इंसीडेंट कमाण्डरों में अपने-अपने क्षेत्र में बेहतर कार्य किया है। उनकी पूरी टीम निरंतर अपने क्षेत्र में कार्य कर संक्रमण की रोकथाम के साथ-साथ जरूरतमंदों को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता कराने में सक्रिय रही है। उनके सक्रिय प्रयास के कारण ही हमारा जिला संक्रमण से बहुत कम प्रभावित हो पाया। उन्होंने कहा कि आने वाला समय और चुनौती भरा है। हम सबको और सतर्क एवं जिम्मेदारी के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करना होगा।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि शासन के आदेशानुसार प्रदेश के श्रमिकों को भी अन्य प्रदेशों से वापस लाया जा रहा है, इसके साथ ही अनुमति प्राप्त कर लोग अपने परिजनों को शहर में वापस ला रहे हैं। शहर में आने वाले हर व्यक्ति की मेडीकल जांच के साथ-साथ निरंतर मॉनीटरिंग आवश्यक है। जिन लोगों को होम क्वारंटाइन किया जायेगा, उनकी निरंतर मॉनीटरिंग आवश्यक है। कलेक्टर श्री सिंह ने सभी इंसीडेंट कमाण्डरों से कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्र में एक समिति का गठन करें। इस समिति में ऐसे सक्रिय लोगों को जोड़ा जाए जो अपने क्षेत्र में सामाजिक कार्य करने के इच्छुक हैं, इसके साथ ही क्षेत्रीय पार्षद, स्वयंसेवी संस्थाओं के लोग, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, नगर निगम का मैदानी अमला शामिल हो। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वार्ड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर समितियों का गठन किया जाकर उन्हें प्रशिक्षण भी दिया जाए।

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि इन समितियों के माध्यम से बाहर से आने वाले लोगों की सूचनायें एकत्र करने के साथ-साथ होम क्वारंटाइन किए गए लोगों की मॉनीटरिंग भी की जायेगी । उन्होंने सभी इंसीडेंट कमाण्डरों से कहा कि वे स्वयं भी मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहें। इसका भी ध्यान रखें। अपनी टीम को भी स्वस्थ रखने के लिये प्रोत्साहित करें। उन्होंने यह भी कहा कि शहर में आने वाले हर व्यक्ति का पंजीयन बॉर्डर पर किया जायेगा। जिसकी सूची संबंधित इंसीडेंट कमाण्डर को उपलब्ध कराई जायेगी। इंसीडेंट कमाण्डर अपने-अपने क्षेत्र में आने वालों की निरंतर मॉनीटरिंग करेंगे।

पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने कहा कि ग्वालियर जिले में इंसीडेंट कमाण्डरों ने अपने दल के साथ अच्छा कार्य किया है। इसी का परिणाम है कि हमारा जिला नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से बहुत कम प्रभावित हो पाया। सभी के प्रयास और समन्वय के साथ कार्य का ही यह नतीजा है। हम सबको आने वाले समय में निरंतर इस तरह के कार्य करते रहना होगा। शहर में बाहर से आने वाले लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण, उन्हें होम क्वारंटाइन एवं संस्थागत क्वारंटाइन कराना तथा उनकी निरंतर मॉनीटरिंग करना एक महत्वपूर्ण कार्य है। इस कार्य को हम सबको बड़ी गंभीरता के साथ करना होगा।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक वार्ड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर बनने वाली कमेटियों में सक्रिय लोग शामिल हों, इस बात का विशेष ध्यान दिया जाए। इसके साथ ही इन लोगों के सहयोग से भी हम नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के साथ-साथ उसकी सावधानियों के लिये भी लोगों को जागरूक कर सकेंगे।

बैठक में नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, सीईओ जिला पंचायत शिवम वर्मा, अपर कलेक्टर अनूप कुमार सिंह, एडीएम टी एन सिंह, अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य, सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती जयति सिंह सहित सभी इंसीडेंट कमाण्डर्स, पुलिस अधिकारी और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।