विभिन्न सामाजिक संस्थाओं ने महिला बंदियों के बीच मनाया महिला दिवस...

सेंट्रल जेल में स्थापना दिवस और महिला दिवस मना एक साथ 


ग्वालियर 8 मार्च l गौशाला के  विकास के लिए  पैसे की कमी नहीं आने दी जाएगी और  प्रदेश में आवारा गौवंश को स्थापित करने के लिए  प्रदेश सरकार जगहों को चिन्हित कर रही है,  जिनके लिए  सभी जिलों के कलेक्टरों को भी  निर्देश दे दिए गए हैं l यह बात केंद्रीय कारागार स्थापना दिवस के अवसर पर पशुपालन मंत्री श्री लाखन सिंह ने केंद्रीय जेल में गौशाला 10 लाख रुपए के विकास कार्यों का शिलान्यास करते हुए कही l

मंत्री श्री लाखन सिंह ने बताया कि जेलअधीक्षक की ओर से मांग की गई थी l कि निराश्रित गोवंश संचालन के लिए शेड की बेहद आवश्यकता है जिससे गौशाला ठीक से संचालित हो सके और मेरे द्वारा 10 लाख रुपए स्वीकृत किए गए, जिसका आज भूमि पूजन किया गया है लेकिन मुझे बताया गया कि यह राशि कम है मैंने भी जेल प्रबंधन को कहा है कि गौशाला के लिए जितना भी पैसा लगेगा वह दिया जाएगा लेकिन शेड का संधारण ठीक ढंग से हो l श्री लाखन सिंह ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री निराश्रित गोवंश को लेकर काफी चिंतित हैं l विगत 15 साल पहले प्रदेश में 7 लाख निराश्रित गोवंश थे, जो आज 10 लाख तक पहुंच गए हैं l


प्रदेश में निराश्रित गोवंश के लिए गौशालाओं के लिए जगह चिन्हित करने के लिए सभी जिलों के कलेक्टरों निर्देशित किया गया है कि जगह चिन्हित कर गोवंश को विस्थापित कराएं यह कार्य चल रहा है और गौशाला खोली गई है ग्वालियर जिले में बरई के पास नौलंदाताल जगह देखी गई है जिसमें 14 करोड़ की लागत का अनुमान लगाया गया है यह गौशाला का कार्य शीघ्र ही प्रारंभ किया जाएगा वही उन्होंने जेल के अंदर कैदियों से भी चर्चा हुई जिसमें पूर्व में जिस तरह कैदियों के लिए परिजनों द्वारा जो सामान लाया जाता था, वह व्यवस्था पुन: चालू करने के लिए केविनेट में प्रस्ताव रखा गया है और संभवत है शीघ्र ही पूर्व की तरह व्यवस्था संचालित कर दी जाएगी l

उन्होंने जेल अधीक्षक श्री मनोज कुमार साहू से जेल में बंद रह वासियों के खानपान एवं रोजमर्रा की कार्यशैली पर भी चर्चा की इस अवसर पर जेल अधीक्षक मनोज कुमार साहू, उप जेल अधीक्षक प्रभात कुमार, उप जेल अधीक्षक महेश प्रसाद टिकारिया सहायक जेल अधीक्षक महावीर बघेल, सहायक जेल अधीक्षक विपिन दंडोतिया सहित जेल प्रशासन एवं कर्मचारी उपस्थित थे l



जेल का जीवन मोनोटोनस-श्री राजाबाबू सिंह
ग्वालियर 8 मार्च l केन्द्रीय कारागार ग्वालियर के स्थापना दिवस एवं अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर शहर की विभिन्न सामाजिक संस्थाओ द्वारा प्रात: १०:०० बजे से विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गए जो देर शाम तक चलते रहे l इस दौरान खेलकूद प्रतियोगिताए, सांस्कृतिक कार्यक्रम सहित सरहानीय कार्य करने वाली महिला प्रहरी एवं महिला बंदियों को सम्मानित किया गया l


इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अथिति ए.डी.जी.पी. श्री राजाबाबू सिंह ने कहा कि-“आज का दिन ग्वालियर जेल के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है क्यूंकि आज जहाँ अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस होने के साथ-साथ केन्द्रीय कारागार ग्वालियर का भी स्थापना दिवस है l इसके लिए सभी को मेरी ओर से बहुत-बहुत शुभकामनाएं l” उन्होंने कहा कि- मेरा मानना है कि जेल के अन्दर आना और रहना सुखद अनुभव नहीं है इसे सभी को स्वीकार करना होगा l कई बंदी झूठे इल्जाम में भी सजा काट रहे है , लेकिन जेल आना उनकी मजबूरी हो जाती है l यहाँ कोई माँ, बहन एवं पत्नी है लेकिन मुझे बेहद कष्ट होता है l


लेकिन जेल प्रवंधन काबिले तारीफ है जो सभी बंदियों का बेहद ख्याल रख रहे है और आपको समय-समय पर जो बन पड़ता है वह सुबिधा भी उपलब्ध कराते है l मेरा बंदियों से कहना है कि आप लोग किसी न किसी कार्य के पारंगत खिलाडी है यहाँ रहकर मैंने जो गीता दी है उसको पड़े जिससे आप का मानसिक विकास होगा और जेल से जाने के वक़्त एक ऐसी उर्जा ले कर जाए और बेहतर इंसान बने कि लोग आपकी तारीफ़ करें l वहीँ जेल में हुए कार्यक्रमों में शामिल प्रतिभाओ और बंदियों को सम्मानित भी किया l

यह कार्यक्रम जे.सी.आई. ग्वालियर विंग, साँस वेलफेयर सोसाइटी, श्री ऋतुराज सिंह चौहान, ए.डी.जे. जिला न्यायालय ग्वालियर एवं  प्रिजन मिनिस्ट्री ऑफ़ इण्डिया ग्वालियर  के संयुक्त रूप से आयोजित किये गए l , ए.डी.जी.पी. श्री राजाबाबू सिंह श्रीमती नीलम सिंह, पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता, जेल अधीक्षक मनोज कुमार साहू, श्रीमती रश्मि साहू, उप जेल अधीक्षक प्रभात कुमार, उप जेल अधीक्षक महेश प्रसाद टिकारिया सहायक जेल अधीक्षक महावीर बघेल, सहायक जेल अधीक्षक विपिन दंडोतिया, सुश्री हरप्रीत कौर, श्री सौरभ जैन, सुश्री मोनिका जैन. सुश्री स्मृति सिंह, सुश्री जसप्रीत कौर, श्रीमती परपेट शर्मा सहित जेल प्रशासन एवं कर्मचारी उपस्थित थे l कार्यक्रम का संचालन उप जेल अधीक्षक  श्री प्रभात कुमार द्वारा किया गया एवं आभार जेल अधीक्षक श्री मनोज कुमार साहू ने व्यक्त किया l


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर केन्द्रीय कारागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्य अथिति श्रीमती नीलम सिंह ने कहा कि आज यहाँ आकर मुझे बहुत अच्छा लग रहा है l जिन बालिकाओं द्वारा कथक एवं नृत्य कला की प्रस्तुति दी गयी वह बच्चियो के उम्र को देखते हुए काबिले तारीफ़ है इसके लिए दोनों बालिकाए वाणी पाठक एवं सृष्टि चौहान को ११००-११०० रुपए से पुरस्कृत भी किया गया l उन्होंने ने बताया कि आज मुझे यहाँ आने का मौका मिला अब मैं मैं अपनी पुलिस महिला ब्रिगेड के साथ यहाँ आउंगी और मेरा यहाँ कुछ करने के लिए भी मन बन रहा है जिससे जेल में बंद महिला बंदियों के जीवन में होली के रंगों की तरह बहार आ सके l


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर केन्द्रीय कारागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्य अथिति श्री राजाबाबू सिंह ने कहा कि-आज जिस तरह कोरोना वायरस फ़ैल रहा है उसके लिए जेल प्रवंधन को आगाह किया कि जेल में साफ़ सफाई एवं खान-पान की शुद्धता पर ध्यान रखा जाए जिससे कोरोना वायरस से जेल के सभी कर्मचारी एवं बंदी निश्चिंत रहे  और बंदी  भी स्वयं साफ़ सफाई का ध्यान रखे l