नागरिकता कानून पर दिया बड़ा बयान...

CAA के विरोध में सजे मंच पर पहुंचे संजय राउत


मुंबई: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी के खिलाफ जमात-ए-इस्लामी हिंद (JIH) मुंबई ने शनिवार को एक कार्यक्रम आयोजन किया. शिवसेना की ओर से पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने हिस्सा लिया. यह पहला मौका है जब किसी शिवसेना नेता ने सीएए के विरोध में सजे किसी मंच में शिरकत की हो.  राउत ने इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जिस कानून से मुस्लिम डरे हुए हैं, उससे हिंदुओं पर भी खतरा मंडरा रहा है.

शिवसेना नेता ने अपने संबोधन में कहा, "इस कानून से देश, दुनिया में अलग-थलग पड़ गया है. ट्रंप भी हमारा साथ नहीं दे रहे हैं. मैं कहता हूं कि ऐसे वक्त में डरो मत, जो डर गया वो मर गया. मै कहता हूं कि इस घड़ी में इस देश के सच्चे नागरिक को डरने की जरूरत नहीं है. डराने वाले आते और चले जाते हैं."

उन्होंने आगे कहा, "बालासाहेब ठाकरे के नाम के आगे हिंदू ह्रदय सम्राट जरूर लिखा जाता था लेकिन वो हमेशा कहते थे कि चाहे हिंदू हो या मुसलमान ये देश सभी का है. जामिया यूनिवर्सिटी मे पुलिस ने ज्यादती की और मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे ने कहा था कि ये घटना जलियांवाला बाग जैसी है. इस देश के स्टूडेंट्स के खिलाफ कारवाई की जा रही है. स्टूडेंट्स ने ही हमेशा इस देश में क्रांति लाई है. आजादी के आंदोलन में भी स्टूडेंट्स थे.  इस कानून के खिलाफ युवा विरोध कर सड़कों पर उतरा है."

राउत ने आगे कहा, "देशभक्ति किसी की जागीर नहीं. हम सबको इस देश को बचाना है. जुल्म के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की जरूरत है. सरकार हर एक को कहती है कि आप पाकिस्तान की जुबान बोल रहे हैं. शिवसेना कभी भी कानून से डरी नहीं है. सरकार कह रही है कि कानून से हम एक कदम भी पीछे नहीं हटेंगे. हम कहते हैं कि हम सरकार को ही पीछे हटा देंगे. जमाते इस्लामी के प्रोग्राम में मैं शामिल हुआ हूं. उद्धव ठाकरे आपके साथ हैं."